राकेश में गोली मार कर सिंध नदी में गाड़ दिया, लव ट्रायंगल बनी वजह: जूता ने उठा दिया पर्दा- kolaras News

कोलारस।
खबर शिवपुरी जिले कोलारस अनुविभाग की सीमा में आने वाले इंदार थाना क्षेत्र से आ रही हैं कि इंदार गांव में रहने वाले एक युवक की प्रेम प्रसंग के कारण गोली मारकर हत्या कर दी गई। युवक को गोली मार लाश सिंध में फैक दी। हत्या करने वाला अपने घर मे बक्शे में पुलिस का छुपा मिला। हत्या का कारण लव ट्रायंगल सामने आया हैं। पुलिस ने गोली मारने वाले आरोपी को गिरफ्तार कर लिया हैं।

6 दिनो से गायब था मृतक राकेश रघुवंशी

इंदार गांव का रहने वाला राकेश पुत्र भारत सिंह रघुवंशी उम्र 36 साल 12 दिसम्बर की रात 10 बले से गायब था। राकेश की तलाश शुरू की तो इंदार नदी के पास उसके एक पैर का जूता पड़ा मिल गया, लेकिन राकेश न तो नदी में मिला और न कहीं और शिकायत के बाद पुलिस ने मोबाइल की कॉल डिटेल निकाली गई तो पता चला कि राकेश को अंतिम काल पड़ोसी देवेंद्र पुत्र रघुवीर चौहान का आया था।

घर में बक्से में छुपा मिला राकेश, हाथ मे हथियार

पुलिस जब देवेंद्र की तलाश शुरू की तो देवेंद्र के परिजन पुलिस को गुमराह कर रहे थे कि देवेंद्र की कोई जानकारी नहीं है और न ही वह घर में हैं। इसी दौरान राकेश के चचेरे भाई उमेश रघुवंशी ने संदेह के आधार पर घर में रखा वक्शा खोल दिया। बक्शे में रजाई. गद्दे रखे हुए थे जब उन्हें हटाया तो उनके नीचे देवेंद्र लेटा हुआ था। उसके हाथ में कट्टा था। पहले तो देवेंद्र ने उमेश व पुलिस पर ही कट्टा तान दिया और उसके बाद उसने खुद की कनपटी पर कट्टा लगाकर आत्महत्या का प्रयास किया। हालांकि पुलिस की सक्रियता के चलते उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

घुमा रहा था पुलिस को ,अशोक नगर तक घुमा लाया था

देवेंद्र से पूछताछ की गई तो पहले तो देवेंद्र कहता रहा कि राकेश दो से तीन दिन में लौट आएगा वह अशोकनगर गया है। 17 दिसंबर को वह पुलिस को अशोकनगर तक घुमा लाया, लेकिन वहां जाकर फिर कहानी बदल दी। जब उससे कड़ाई से पूछताछ तो उसने हत्या स्वीकार ली और लाश बरामद करवा दी।

हत्या कर नदी की रेत में गाड़ दिया

आरोपित ने बताया कि उसने इंदार के शमशान घाट में गोली मारकर हत्या की थी। इसके बाद नदी में रेत में शव को दबाकर उस पर पत्थर रख दिए और घर वापस आ गया।

लव ट्रायंगल की वजह से की हत्या

आरोपी देवेंद्र ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि जिस लड़की से वह प्यार करता है, उसी के साथ राकेश के अवैध संबंध थे, उसने राकेश को कई बार प्रेमिका से दूर रहने की हिदायत भी दी, लेकिन वह नहीं मान रहा था। इसके अलावा राकेश से उसने कुछ रुपये भी उधार लिए थे, जिसे वह चुका नहीं पा रहा था। वहीं राकेश इन पैसों के लिए लगातार दबाव बना रहा था।

पढ़ा लिखा नहीं लेकिन जेब में मिला सुसाइड नोट

हत्यारोपित देवेंद्र पढ़ा लिखा नहीं है, लेकिन जब उसे गिरफ्तार किया गया था तो उसकी जेब में एक सुसाइड नोट मिला। सुसाइड नोट में उसने आत्महत्या करने के लिए मृतक के स्वजन को जिम्मेदार ठहराने की बात लिखी थी। जेब में मिले सुसाइड नोट से यह तो स्पष्ट है कि इस पूरे मामले में देवेंद्र के साथ कोई और भी शामिल है।

विचारणीय पहलू यह है कि राकेश को गोली मारने के उपरांत शमशान घाट से नदी तक देवेंद्र अकेला नहीं ले जा सकता। दूसरा वह खुद सुसाइड नोट नहीं लिख सकता। ऐसे में कोई न कोई और व्यक्ति भी देवेंद्र के साथ पूरी हत्या में सहभागी रहा है।

इनका कहना हैं
आरोपित को उसके घर के अंदर बक्से में से गिरफ्तार किया गया है। फिलहाल तो एक ही आरोपित सामने आया है। मामले की विवेचना जारी है, अगर हत्या के इस मामले में कोई और भी देवेंद्र के साथ रहा होगा तो उसे भी गिरफ्तार कर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।
विजय यादव, एसडीओपी कोलारस।