BRCC BADARWAS कार्यालय में कम्ठान की विदाई और अंगद सिंह का स्वागत

बदरवास
। वीआरसीसी कार्यालय बदरवास में गत दिवस पूर्व वीआरसीसी राजेश कम्ठान के शिवपुरी स्थानांतरित होने पर विदाई समारोह का आयोजन किया गया। श्री कम्ठान बदरवास में एक लम्बे समय से बीआरसीसी का पद संभाल रहे थे। नवीन व्यवस्था स्वरूप उन्हे शिवपुरी विकास खण्ड शिक्षाधिकारी का प्रभार सौंपा गया है। 

विदाई समारोह में अतिथि के रूप में वर्तमान बीआरसीसी अंगद सिंह तोमर, कोलारस पूर्व वीआरसीसी घूमनसिंह गोलिया, पूर्व संकुल प्राचार्य फूल सिंह वर्मा, प्रांतीय शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष राज कुमार सरैया, दिनकर नीखरा, नीरज पारशर उपस्थित रहे। कार्यक्रम का शुभारंभ माॅ सरस्वती पूजा अर्चना कर किया गया। कार्यक्रम में उपस्थित सभी अतिथियों का माल्यार्पण कर स्वागत बीएसी गुरूप्रसाद शर्मा, संजीव पाठक, गोपाल जाटव, सचिन गुप्ता सहित समस्त सीएसीओं द्वारा किया। 

अपने उद्बोधन में श्री कम्ठान ने कहा कि बीआरसीसी बदरवास के कार्यकाल के दौरान सभी बीएसी, सीएसी एवं शासकीय सेवकों को भरपूर सहयोग मिला जिसके फलस्वरूप ही वह शासकीय योजनाओं को कर्तव्यनिष्ठा के साथ संपादित कर सके। मेरा यह कार्यकाल सुखद अनुभव के साथ मुझे हमेशा प्रेरणा देता रहेगा। 

वर्तमान वीआरसीसी अंगद सिंह तोमर ने अपने उद्बोधन में कहा कि श्री कम्ठान मार्गदर्शक के रूप में मेरा हमेशा मेरा पथ प्रशक्त करते रहे हैं। उनके अनुभवों को लाभ लेते हुये वे हमेशा कार्य करते रहेंगे। 

प्रांतीय शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष राजकुमार सरैया ने श्री कम्ठान के कार्यों की प्रशंसा करते हुये कहा कि शासकीय कर्मचारियों और अकादमिक व प्रशासनिक योजनाओं के संपादन में जो समन्वय श्री कम्ठान द्वारा पेश किया गया। वह मिशाल के रूप में प्रेरणादयक है। 

मंच का संचालन राजेश नामदेव प्रधानाध्यापक सीएम राईज, एवं सीएसी भूपेन्द्र रघुवंशी द्वारा किया गया। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से बीएसी गोपाल जाटव, शिवनाथ सिंह चैहान, कुलदीप ग्वाल द्वारा स्वागत भाषण दिया गया। 

कार्यक्रम में प्रमुख रूप से बीएसी गुरू प्रसाद शर्मा, संजीव पाठक, गोपाल जाटव, सचिन गुप्ता, राजेश नामदेव, सीएसी राकेश श्रीवास्तव, सन्तोष सैन, शिवनाथ चैहान, भूपेन्द्र रघुवंशी, चन्द्रेश रघुवंशी, भगवत सिंह यादव, भूपेन्द्र रघुवंशी, सुरेन्द्र जाट, उग्रसैन रघुवंशी, देवेन्द्र रघुवंशी, कुलदीप ग्वाल, रविन्द्र चैरसिया, अरविन्द कुशवाह, रवि धाकड़, सेवकराम चंदेल, मुन्ना जाट, राधेचरण केवट आदि प्रमुख रूप से उपस्थित थे। 

अंत में सीएसी भूपेन्द्र रघुवंशी द्वारा सभी का आभार प्रकट किया गया। सहभोज के साथ कार्यक्रम का समापन किया गया।