प्रसिद्ध जैन साध्वी रमणीक कुंवर जी अगला चातुर्मास करने 14 वर्ष बाद शिवपुरी पधारेंगी- Shivpuri News

शिवपुरी।
14 वर्ष पूर्व वर्ष 2009 में शिवपुरी में भव्य चातुर्मास कर जिनवाणी की गंगा प्रवाहित करने वालीं भारत की प्रसिद्ध जैन साध्वी श्री रमणीक कुंवर जी महाराज दमू अगला चातुर्मास शिवपुरी में करेंगी। साध्वी रमणीक कुंवर जी से चातुर्मास की विनती शिवपुरी के श्वेताम्बर स्थानकवासी और मूर्तिपूजक समाज ने सवाई माधौपुर में साध्वी रमणीक कुंवर जी से और इंदौर में श्रमण संघ के प्रवर्तक प्रकाश मुनिजी से की थी।

जिसके फलस्वरूप मुनिश्री प्रकाश मुनि जी ने शिवपुरी श्वेताम्बर समाज की भावना का सम्मान करते हुए साध्वी रमणीक कुंवर जी म.सा.के अगले चातुर्मास की शिवपुरी में होने की घोषणा की जिससे समाज में हर्ष व्याप्त है और जैसे ही महाराजश्री ने शिवपुरी में साध्वी रमणीक कुंवर जी के चातुर्मास की घोषणा की वैसे ही इंदौर के राजमोहल्ला स्थित स्थानक में हर्ष.हर्ष के नारों की गूंज से वातावरण गुंजायमान हो उठा।

इंदौर जाकर श्रमण संघ के उपप्रवर्तक प्रकाश मुनि जी से स्थानकवासी समाज के अध्यक्ष राजेश कोचेटा के नेतृत्व में श्रीमती संध्या कोचेटा, अशोक कोचेटा, अशोक जैन, नरेन्द्र कोचेटा, पंकज गूगलिया, जय कोचेटा ने भेंटकर उनसे साध्वी रमणीक कुंवर जी म.सा. के शिवपुरी में चातुर्मास की विनती की थी।

साध्वी रमणीक कुंवर जी का शिवपुरी में वर्ष 2009 में ऐतिहासिक चातुर्मास हुआ था। इस चातुर्मास में अद्भुत रूप से धर्म की प्रभावना में वृद्धि हुई थी। पहली बार शिवपुरी में मासखमण 30 उपवास की तपस्या साध्वी जी की प्रेरणा से हुई थी।

इसके अलावा 21, 15 और 8 उपवास की झड़ी लग गई थी। शिवपुरी में बड़ी मांगलिक का भी शानदार आयोजन हुआ था। साध्वी जी ने जेल में जाकर कैदियों को भी धर्मोपदेश दिया था तथा कई अजैन बंधु उनके सत्संग से जैन धर्म के आचरण का पालन करने लगे थे।

उनके चातुर्मास के बाद चौदह वर्षों तक शिवपुरी के स्थानक में किसी संत अथवा साध्वी जी का चातुर्मास नहीं हुआ था। इसी कारण जैन समाज के प्रतिनिधि मंडल ने जिसमें श्वेताम्बर मूर्तिपूजक समाज के अध्यक्ष दशरथमल सांखला, चातुर्मास कमेटी के संयोजक तेजमल सांखला, उपसंयोजक प्रवीण लिगा, मुकेश भांडावत,स्थानकवासी समाज के अध्यक्ष राजेश कोचेटा के नेतृत्व में समाज के 30 श्रावक और श्राविकाओं ने सवाई माधौपुर जाकर साध्वी जी से शिवपुरी में चातुर्मास की विनती की।

प्रतिनिधि मंडल में अशोक कोचेटा, सुनील सांड, सुमत कोचेटा, भूपेन्द्र कोचेटा, अशोक जैन, रजत जैन, सुनीता भांडावत, सुनीता कोचेटा, सुचि लूनावत, संजय लूनावत, संध्या कोचेटा, रेखा जैन, ममता गोखरू, प्रीति कोचेटा, मंजू कोचेटा, सुलोचना श्रीमाल, अजय सांखला, लाभचंद्र जैन, बल्लभ लिगा, रामसेवक गुप्ता, सुधा काष्टया, नरेन्द्र शर्मा आदि शामिल थे।

प्रतिनिधि मंडल को साध्वी जी ने आश्वस्त किया कि वह उनकी भावनाओं को श्रमण संघ के उपप्रवर्तक प्रकाश मुनिजी तक पहुंचाएंगी इसके बाद शिवपुरी समाज के प्रतिनिधि मंडल ने इंदौर पहुंचकर महाराजश्री से विनती की जिसके परिणामस्वरूप अगले चातुर्मास का लाभ शिवपुरी के श्वेताम्बर समाज को मिला है जिससे समाज में हर्ष का वातावरण है।

साध्वी जी के साथ एक से एक बढ़कर हैं सतियां जी
साध्वी रमणीक कुंवर जी के साथ शिवपुरी में चातुर्मास आठ सतियां करेंगी जो कि अपनी प्रतिभा, मेघा, विद्धता और प्रज्ञा में एक से बढ़कर एक हैं। चातुर्मास में साध्वी नूतन प्रभाश्री जी और साध्वी पूनम श्रीजी के प्रवचनों की धूम रहेगी। साध्वी मंगलप्रभा श्री, साध्वी मृदुला जी और साध्वी निर्मल प्रभाजी जैन दर्शन की उत्कृष्ट विशेषक हैं वहीं साध्वी जयश्री जी और साध्वी वंदना श्रीजी की भजनों की मधुर गायिका के रूप में ख्याति है।