चाचा-भतीजे को कार से कुचलकर मारने की कोशिश, फायर: रिपोर्ट दर्ज कराकर लौट रहे थे- karera News

करैरा। पंचायत चुनाव समाप्त हुए कई माह बीत गए लेकिन चुनावी रंजिश खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही है। ऐसे तमाम मामले आए दिन सामने आ रहे हैं। ऐसा ही एक मामला करैरा थाना क्षेत्र के खड़ीचा गांव में सामने आया है, जहां मारपीट की रिपोर्ट दर्ज कराकर लौट रहे चाचा-भतीजे पर हमला कर दिया।

पीछे से आकर चार पहिया गाड़ी से बाइक में टक्कर मार दी। किसी तरह बाइक को मौके पर छोड़कर चाचा भतीजे ने जान बचाई। मोहर सिंह रावत का कहना है कि चुनावी रंजिश के चलते धर्मेंद्र, राजेश, सुरेश, और प्रशांत ने कुल्हाड़ी, सरिया व लाठी से एक राय होकर हमला कर दिया।

झगड़े के दौरान मेरे भतीजे नीरज ने मुझे बचाने का प्रयास किया तो उसकी भी लाठी व सरियों से मारपीट कर दी। जब हम करैरा पुलिस थाने में रिपोर्ट दर्ज कराकर घर लौट रहे थे। तभी रास्ते में हाकिम सिंह रावत ने अपने 30.35 साथियों के साथ आकर बाइक में चार पहिया गाड़ी से पीछे से टक्कर मार दी।

जब हम गिर पड़े तब हाकिम व उसके साथियों ने हम दोनों पर सरियों से हमला कर दिया। भागते समय हाकिम ने बंदूक से हम पर फायर कर जान से मारने की कोशिश की। बाइक को घटना स्थल पर छोड़कर हम दोनों ने भागकर जान बचाई।

नीरज रावत का कहना है कि हाल ही में पंचायत चुनाव में वह सरपंच का चुनाव लड़ा था। जिसमें हालांकि हाकिम सिंह रावत 12 वोट से चुनाव जीत गया था। लेकिन वह उसके खिलाफ में चुनाव लड़ने की रंजिश रखता था इसलिए उसने साथियों सहित आकर हमारी मारपीट की है। करैरा पुलिस ने मामला दर्ज कर विवेचना में ले लिया है।