शिवपुरी में बारिश: भतीजे को बचाने गए चाचा भी फंसा शुक्ला नदी में, 5 घंटे पेड़ पर- Pohri News

पोहरी।
गुरुवार के दिन से शिवपुरी जिले के आसमान में बादल छाए हुए थे,गुरुवार को नही बरसे लेकिन शुक्रवार को बादलों का सब्र टूट गया और 4 घंटे झमाझम बरसे। इस कारण जिले की पोहरी अनुविभाग से गुजरने वाली कूनो की सहायक नदी शुक्ला नदी में प्रचंड रूप धारण कर लिया,अचानक से बढे इस जलस्तर के कारण चाचा-भतीजा फंस गए और 5 घंटे पेड़ पर टंगे रहे।

10 साल के भतीजे को बचाने पहुंचा चाचा भी फस गया

पोहरी के छर्च क्षेत्र के बिलौआ और कुड़ी गांव के बीच से शुक्ला नदी के आसपास तीन ग्रामीण बकरियां चरा रहे थे जिनमें भतीजा विकेश उम्र 10 साल पुत्र शिवलू कुशवाह निवासी ग्राम कुड़ी और हरीसिंह उम्र 21 साल पुत्र नारायण सिंह कुशवाह थे। शाम करीब 4 बजे अचाक शुक्ला नदी में बाढ़ आ गई। तीसरा ग्रामीण तो किसी तरह निकलकर आ गया लेकिन टापू पर दस साल का विकेश कुशवाह फंस गया। विकेश को बचाने चाचा हरीसिंह तैरकर पहुंच गया। लेकिन नदी में लगातार पानी बढ़ता चला गया।आखिरकार टापू भी डूबने लगा तो दोनों चाचा.भतीजे जान बचाने पेड़ पर चढ़ गए।

राज्यमंत्री सुरेश राठखेड़ा ने सीएम से मांगी मदद

पोहरी विधायक और पीडब्ल्यूडी राज्यमंत्री सुरेश राठखेड़ा ने सीएम शिवराज सिंह से मदद की मांग की। एसडीआरएफ की टीम भी नाव व अन्य राहत एवं बचाव सामग्री लेकर मौके पर पहुंची। उन्होंने नदी में फंसे दोनों युवकों को निकालने का प्रयास शुरू किया। बहाव तेज होने के कारण युवकों तक पहुंच पाना मुश्किल हो रहा था।

रात 9 बजे शुक्ला नदी में शांति जब निकाला ग्रामीणों ने

बाद में शाम 7 बजे के बाद पानी का स्तर धीरे.धीरे कम होने लगा और टापू भी निकलने लगा। रात 8 बजे तक पानी काफी नीचे उतर गया,इसके बाद ग्रामीणों ने रात 8 बजे के बाद रस्सी के सहारे पेड़ पर चढे चाचा भतीजे को सुरक्षित बाहर निकाला।