PM को बर्थडे गिफ्ट देने की तैयारी में लगा कूनो, साउथ अफ्रीका से आज पहुंचेगा दल, लेगा जायजा- Shivpuri News

शिवपुरी। शिवपुरी और श्योपुर सीमा से कूनो नेशनल पार्क में विदेशी मेहमान आने की पूरी तैयारियां कर ली है। मप्र सरकार इस प्रोजेक्ट को गंभीरता से ले रही है क्यो की वह प्रोजेक्ट का श्रीगणेश भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से करवाना चाहती है। अगर सब कुछ सही रहा तो अफ्रीकी चीते की बसाहट के रूप में पीएम को बर्थडे गिफ्ट देना चाहेंगी। अब खबर है कि कूनो में चीतों की तैयारियों को देखने के लिए नामीबिया के बाद अब साउथ अफ्रीका का चार सदस्यीय दल के आज पहुंचने की संभावना हैं।

बताया जा रहा हैं कि यह दल चीतों के लिहाज से की गई तैयारियों का जायजा लेगा, ताकि कूनो नेशनल पार्क में चीता भेजने को लेकर साउथ अफ्रीका निर्णय कर सके। इसके बाद 9 को मप्र शासन के वन मंत्री विजय शाह के कूनो में चल रही तैयारियों का जायजा लेने आने की संभावना बन रही है।

अफ्रीकी चीतों के लिए कूनो में तैयारियां तेज हो गई हैं। कूनो में चीता शिफ्टिंग के साथ ही वीवीआईपी के मूवमेंट के मद्देनजर हेलीपैड बनाने का काम भी कूनो नेशनल पार्क के भीतरी इलाके के साथ ही कराहल में भी शुरू हो गया है। साउथ अफ्रीका की चीता एक्सपर्ट टीम कुनो में आएगी। टीम की रिपोर्ट के बाद ही नामीबिया से 8 चीते भारत लाने का रास्ता साफ होगा। मध्यप्रदेश सरकार 17 सितंबर को कूनो में चीतों को लाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बर्थडे गिफ्ट देना चाहती है। इसे ध्यान में रखकर ही कूनो में तैयारी की जा रही है।

केंद्रीय तोमर बोले इसी माह कूनो में आएंगे चीते, प्रधानमंत्री से आने के लिए किया आग्रह : श्योपुर दौरे पर केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि, इसी महीने में कूनो में चीते वस जाएंगे। इस प्रोजेक्ट का शुभारंभ करने के लिए हमने प्रधानमंत्री से आग्रह किया है, संभवत उनका कार्यक्रम आ जाएगा तो भी कूनो आएंगे।

केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि, कूनो में चीतों के लाने की सभी तैयारियां हो चुकी है। इसी सितंबर महीने में कूनो में चीते आ जाएंगे। हमारा प्रयास है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के कर कमलों द्वारा हमारा कूनो अभ्यारण्य प्रारंभ हो। लेकिन अभी प्रधानमंत्री जी का कार्यक्रम तय नहीं हुआ है। इसे लेकर तैयारियां चल रही है। हालांकि, अभी तारीख का निर्धारण नहीं हुआ हैं।