Shivpuri News- नेहा यादव बनी निर्विरोध जिला पंचायत अध्यक्ष: खतौरा का जलवा कायम है

शिवपुरी।
कोलारस के पूर्व विधायक महेंद्र यादव की बेटी और पूर्व विधायक तथा पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष स्व: रामसिंह यादव की पोती श्रीमती नेहा अमित यादव निर्विरोध रूप से जिला पंचायत अध्यक्ष चुनी गई हैं, वही जिला पंचायत उपाध्यक्ष के लिए चुनाव हुए जिसमें अमित पडरिया विजयी हुए है।  

निर्विरोध निर्वाचित हुई नेहा यादव के  खिलाफ चुनाव मैदान में दो महिला उम्मीदवारों ने अपने पर्चे दाखिल किए थे। जिनमें एक तो भाजपा नेता विवेक पालीवाल की पत्नी निशा पालीवाल और दूसरी कलावती आदिवासी थीं। लेकिन नाम वापिस लेने के दौरान दोनों प्रत्याशियों ने अपना नाम वापिस ले लिया और इसके साथ ही श्रीमती नेहा यादव को निर्विरोध रूप से जिला पंचायत अध्यक्ष चुन लिया गया।

शिवपुरी जिले के निर्वाचित 25 जिला पंचायत सदस्यों में श्रीमती नेहा यादव के पक्ष में 19 जिला पंचायत सदस्य थे। श्रीमती नेहा यादव को भाजपा में केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया का समर्थक माना जाता है। जिला पंचायत सदस्य निर्वाचित होने के बाद वह अपने समर्थक जिला पंचायत सदस्यों के साथ पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया से मिलने गईं और इसके पश्चात मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से उन्होंने अपने समर्थकों के साथ भेंट की।

भाजपा जिलाध्यक्ष राजू बाथम ने आज उन्हें जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए पार्टी का अधिकृत प्रत्याशी घोषित किया। इसके पश्चात यह तय लग रहा था कि वह निर्विरोध रूप से जिला पंचायत अध्यक्ष चुनी जाएंगी। लेकिन फार्म भरने के दौरान निशा पालीवाल और कलावती आदिवासी ने अपनी नामजदगी के पर्चे भर दिए।

इसके बाद दोनों को समझाने बुझाने का क्रम चला और साढ़े 12 बजे के पहले दोनों उम्मीदवारों ने अपना नाम वापस ले लिए। इस तरह से श्रीमती यादव के निर्विरोध निर्वाचन का रास्ता साफ हो गया,वैसे तो शुरू से ही यह क्लीयर था कि जिला पंचायत की अध्यक्ष की कुर्सी खतौरा के खाते में ही जाऐगी। इससे यह भी सिद्ध हो गया हैं कि जिले की राजनीति की ताकत खतौरा के खाते मे ही हैं क्योंकि यह जिले में इस खतौरा को महाराजा सिंधिया का दूसरा घर माना जाता हैं।

मैं रबर स्टाम्प जिला पंचायत अध्यक्ष नहीं रहूंगी
जिला पंचायत अध्यक्ष निर्वाचित होने के बाद श्रीमती नेहा यादव ने जिला पंचायत के बाहर पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि मैं शासन की जनहितकारी योजनाओं को ग्रामीण क्षेत्र में धरातल पर लाने का काम करेंगे और भ्रष्टाचार से समझौता नहीं करूंगी।

जब उनसे पूछा गया कि अभी तक जितनी भी जिला पंचायत अध्यक्ष महिलाएं रही हैंए उन्होंने रबर स्टाम्प की तरह कार्य किया है तो नेहा यादव ने प्रतिप्रश्न किया कि क्या मैं आपको रबर स्टाम्प लग रही हूं। आपके सवालों का जब मैं जवाब दे रही हूं तो मैं कैसे रबर स्टाम्प हूं। मैं रबर स्टांप की तरह कार्य नहीं करूंगी और अपने विवेक से निर्णय लूंगी। महिलाओं के उत्थान और ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार पर मैं सबसे पहले ध्यान दूंगी।

जानिए नेहा यादव के विषय में
नेहा ने बीबीए.एमबीए भी किया है। अब वे स्कूल का संचालन करती हैं। उनके पति अमित यादव जनपद सदस्य रह चुके हैं। नेहा यादव के पिता महेंद्र यादव कोलारस विधानसभा से विधायक भी रह चुके हैं।
 
पूर्व विधायक महेंद्र यादव के पिता स्वः रामसिंह यादव भी कोलारस विधानसभा क्षेत्र से विधायक रह चुके हैं ओेर 2 बार जिला पंचायत अध्यक्ष भी रह चुके हैं। यह परिवार सिंधिया निष्टों में से एक है। नेहा करीब 1 करोड़ की संपत्ति की मालकिन हैं।