महाराजा सिंधिया के हाथ में अब ​कौन बनेगा जिला पंचायत अध्यक्ष,नेहा यादव सबसे आगे - Shivpuri News

शिवपुरी। जिला पंचायत सदस्य पद की 25 सीटों में से 20 से अधिक सीटों पर भाजपा समर्थक विजयी हुए हैं। इनमें केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और प्रदेश सरकार की मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया के समर्थक चुनाव जीते हैं। अध्यक्ष पद के लिए दोनों खेमों से दावेदारों के नाम उभरकर सामने आए हैं। ऐसे में यह कहना आसान नहीं है कि अध्यक्ष पद पर किसकी ताजपोशी होगी।

हालांकि वार्ड क्रमांक 21 से चुनाव जीतीं नेहा अमित यादव के पिता पूर्व विधायक महेंद्र सिंह यादव का दावा है कि उनकी बेटी निर्विरोध रूप से चुनाव जीतेगी। श्री यादव कट्टर ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक हैं। लेकिन वार्ड क्रमांक 1 से जीते यशोधरा राजे समर्थक गोविंद शर्मा ने भी अध्यक्ष पद के लिए ताल ठोक दी है।

श्री शर्मा भाजपा नेता और प्रदेश सरकार की मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया के खासे विश्वासपात्र संजय गौतम के चाचा हैं। जिला पंचायत सदस्य गोविंद शर्मा का तर्क है कि चूकि जिला पंचायत अध्यक्ष का पद अनारक्षित है। इस कारण इस पद पर सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों को प्राथमिकता दी जानी चाहिए। सिंधिया समर्थक नेहा यादव पिछड़ा वर्ग से हैं।

जिला पंचायत अध्यक्ष और उपाध्यक्ष दोनों पदों के लिए निर्वाचन 29 जुलाई को होना तय हुआ है। चूकि जिला पंचायतों के सदस्यों के निर्वाचन में एक तरफा रूप से भाजपा को बढ़त हासिल हुई है। इस कारण यह तो तय माना जा रहा है कि अध्यक्ष पद पर भाजपा की ताजपोशी होगी। लेकिन कौन जिला पंचायत अध्यक्ष बनेगा इसे लेकर कुहासा छाया हुआ है।

केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया खैमे की ओर से नेहा यादव अध्यक्ष पद की उम्मीदवार हो सकती हैं। उनके पिता का दावा है कि उनके पास जीत का गणित है। उनकी पुत्री के अलावा उनके समर्थक 4 सीटों पर विजयी रहे हैं। जिनमें वार्ड क्रमांक 22 से जीती गीता आदिवासी 6 हजार से अधिक मतों से विजयी रही हैं। वार्ड क्रमांक 5 से जीते अवधेश बेडिया पूर्व मंत्री स्व. पूरन सिंह बेड़िया के सुपुत्र हैं और उन्हें सिंधिया समर्थक माना जाता है। जीतने के बाद वह अपने नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया से मिलने के लिए दिल्ली पहुंचे। जहां सिंधिया ने उन्हें जीत की शुभकामनाएं दीं।

श्री बेडिया का कहना है कि सिंधिया जिसे कहेंगे, वह उसका समर्थन करेंगे। लेकिन इसके बाद भी नेहा यादव की चुनौती आसान नहीं है। वार्ड क्रमांक 1 से जीते गोविंद शर्मा ने स्पष्ट रूप से अपनी महत्वाकांक्षा व्यक्त कर दी है। श्री शर्मा प्रशासनिक सेवा से निवृत होकर हाल ही में राजनीति में आए हैं। उनका कहना है कि चूंकि वह प्रशासनिक अधिकारी रहे हैं। इसलिए बेहतर ढंग से जिला पंचायत अध्यक्ष की कमान संभाल सकेंगे।

श्री शर्मा ने आज यशोधरा राजे सिंधिया के जनसम्पर्क कार्यालय पहुंचकर उनके प्रति अपनी निष्ठा व्यक्त की और कार्यालय में स्व. राजमाता विजयाराजे सिंधिया के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। यशोधरा राजे खेमे को पड़ोरा परिवार और विवेक पालीवाल का भी समर्थन मिलने की उम्मीद है। भाजपा नेता विवेक पालीवाल की पत्नी निशा पालीवाल वार्ड क्रमांक 2 से विजयी रही हैं।