DEO ने बदला अपना विवादित आदेश, अब हेड मास्टर नहीं पकड़ेगें चौकीदार का डंडा- Shivpuri News

शिवपुरी। भृत्य और चौकीदार पर ही स्कूल की सुरक्षा का जिम्मा रहेगा। शिक्षक स्कूलों में रात्रिकालीन ड्यूटी नहीं करेंगे। यह निर्णय मप्र शिक्षक संघ की मांग पर डीईओ संजय श्रीवास्तव ने संशोधित आदेश जारी कर दिया है। दरअसल मध्य प्रदेश शिक्षक संघ की मांग पर जिला शिक्षा अधिकारी ने 5 जुलाई को जारी किए स्कूलों में शिक्षकों की रात्रिकालीन ड्यूटी के आदेश में बदलाव किया।

डीईओ संजय श्रीवास्तव द्वारा जारी किए गए संशोधन आदेश के तहत अब स्कूलों के महत्वपूर्ण अभिलेख व अन्य सामग्री की सुरक्षा के लिए अब स्कूल के भृत्य या चौकीदार की ड्यूटी संस्था प्रधान द्वारा लगाई जाएगी। इस संबंध में मप्र शिक्षक संघ द्वारा ज्ञापन सौंपकर जिला शिक्षा अधिकारी से शिक्षकों की रात्रिकालीन ड्यूटी ना लगाए जाने की मांग की गई थी जिस पर यह आदेश जारी किया गया।

मप्र शिक्षक संघ के एतराज के बाद वापस लिया आदेश: मप्र शिक्षक संघ के संभागीय कोषाध्यक्ष सुशील अग्रवाल की अगुवाई में मौजूदा जिलाध्यक्ष राजा बाबू आर्य और पदाधिकारियों ने जिला शिक्षा अधिकारी से मुलाकात कर इस बात का मांग पत्र सौंपा, कि शिक्षकों की स्कूलों में रात्रिकालीन ड्यूटी न लगाई जाए।

मप्र शिक्षक संघ के इस एतराज पर डीईओ ने 5 जुलाई को जारी किए गए शिक्षकों की रात्रि कालीन ड्यूटी वाले आदेश की आपत्तिजनक लाइन हटाकर संशोधित आदेश जारी करने का आश्वासन संगठन को दिया।

जिसके बाद डीईओ ने संशोधित आदेश जारी कर दिया जिसमें स्कूलों की सुरक्षा रात में अब शिक्षकों की जगह भृत्य या चौकीदार के हवाले कर दी गई है। इस मौके पर मप्र शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष राजा बाबू आर्य, जिला सचिव अनिल गुप्ता, पंकज भार्गव, प्रहलाद गुप्ता, नरेश भार्गव, वत्सराज राठौड़ व दीपेंद्र शर्मा आदि मौजूद थे।