CM-helpline: कागजों में गायब हो गया अंधेरा, CM को भेजा जाएगा लीगल सूचना पत्र- Shivpuri News

शिवपुरी। प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह ने सीएम हेल्पलाइन शुरू करने का उद्देश्य यह था कि जनता की शिकायतों का निराकरण स्थानीय स्तर पर अधिकारी नही करते है तो सीएम हेल्पलाइन में शिकायत कर निराकरण किया जा सकता है। इस व्यवस्था में शिकायतकर्ता जब संतुष्ट होंगे उसी स्थिति में शिकायत विलोपित की जाऐगी।

सीएम हेल्पलाइन में की गई जनहित की एक शिकायत का निराकरण फर्जी रूप से करने का मामला प्रकाश में आया है। यह शिकायत शहर के एडवोकेट संजीव बिलगैया ने की थी कि शहर में अंधेरा पसरा रहता हैं नपा की लापरवाही हैं खंभे तो खडे है लेकिन उन पर से स्ट्रीट लाइट गायब हैं।

जानकारी के अनुसार एडवोकेट संजीव बिलगैया ने सीएम हैल्पाईन में एक शिकायत दर्ज कराई थी कि महल कॉलोनी में रात में अंधेरा पसरा रहता हैं और खंभे है लेकिन उन पर स्ट्रीट लाइट नहीं है। यह शिकायत सीएम हेल्पलाइन में शिकायत क्रमांक 17921588 के रूप में दर्ज की गई।

एडवोकेट संजीव ने बताया की उनके मोबाइल पर एक एसएमएस प्राप्त हुआ है,कि आपकी शिकायत का निराकरण कर दिया गया है,लेकिन धरातल पर खंभे पर एक भी बल्ब नहीं लगा है। इस शिकायत के जांच अधिकारी ने घर पर ही बैठ कर सडको पर रोशनी कर दी।

इस शिकायत का निराकरण अधिकारियों ने बिना फर्जी तरीके से कर दिया गया। खंभों पर स्ट्रीट लाइट लगी न सर्वेक्षण हुआ ना कोई देखने आया। कुल मिलाकर धरातल पर अधिकारी आए नहीं आए और घर पर बैठकर शिकायत का निराकरण कर दिया हैं,इस मामले में एडवोकेट संजीव बिलगैया का कहना है कि वह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह लीगल सूचना पत्र जारी किया जाऐगा।