रस्सी फंदा बनकर अटक गई 11 वर्षीय कृष्णा के गले में:खेल-खेल में मौत

शिवपुरी। अनहोनी किसी भी रूप में सामने आ सकती हैं। ऐसी ही एक अनहोनी ने एक परिवार के चिराग की मौत हंसते खेलते हो गई। देहात थाना क्षेत्र के तारकेश्वरी कॉलोनी में 11 वर्षीय मासूम बालक कृष्णा जैन की खेल-खेल में जान चली गई। बालक ने घर में ही रस्सी लटका रखी थी। जिस पर वह हर रोज खेलता था। बीती रात भी रस्सी से झूलते वक्त उसके गले में फंदा लग गया। जिससे उसकी मौत हो गई।

तारकेश्वरी कॉलोनी में रहने वाले राकेश जैन बीते रोज अपनी परचून की दुकान पर बैठे थे, उनकी पत्नी पड़ोसी के जहां गई हुई थी। घर में 11 वर्षीय उनका पुत्र कृष्णा अकेला था और वह घर की छत पर बनी रस्सी से खेल रहा था।

इसी दौरान रस्सी का फंदा बनकर उसके गले में अटक गया। जिससे उसकी मौत हो गई। परिजन जब घर पहुंचे तो कृष्णा के गले में रस्सी का फंदा पड़ा हुआ था, उसे तत्काल इलाज के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

पढ़ने में बहुत अब्बल था मासूम
परिजनों ने बताया कि कृष्णा पढ़ने में बहुत अब्बल था। हमेशा कक्षा में उसके अच्छे नंबर आते थे। खेलने के लिए वह घर से बाहर कम ही जाता था। ज्यादा समय अपनी पढ़ाई-लिखाई में खर्च करता था। 

परिजनों ने घर में ही उसके खेलने के सारे संसाधन एकत्रित कर चुके थे। उसने एक रस्सी को छत से बांध दिया था, जिससे वह झूलता रहता था और कलाबाजी करता रहता था। किसी ने नहीं सोचा था कि यहीं रस्सी उसकी मौत का कारण बन जाएगी। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।