मेटरनिटी विंग में नेक नहीं मिला तो नवजात के मरने की बद्दुआ तक देने के आरोप: हंगामा- Shivpuri News

शिवपुरी। जिला अस्पताल की मेटरनिटी विंग में प्रसूताओं और उनके स्वजनों से अवैध वसूली थमने का नाम नहीं ले रही है। इसी क्रम में गुरुवार की रात मेटरनिटी विंग में प्रसूताओं से अवैध वसूली को लेकर एक महिला कर्मचारी ने न सिर्फ हंगामा किया। बल्कि उन्हें गालियां तक दे डालीं। मामले की शिकायत अस्पताल प्रबंधन को भी दर्ज कराई गई है।

नरवर निवासी खेमराज सहित वार्ड क्रमांक-2 व 3 में भर्ती प्रसूताओं ने अस्पताल प्रबंधन को शिकायत दर्ज कराई है। छितरी नरवर निवासी खेमराज का कहना है कि उसकी पुत्रवधू सोनम परिहार का का प्रसव जिला अस्पताल में हुआ था। प्रसव के बाद कबूला नाम की एक महिला वार्ड में आई और उससे 500 रुपये की मांग की। इसके अलावा वार्ड में भर्ती अन्य प्रसूताओं से भी 100-100 रुपये की अवैध वसूली की मांग की गई।

जिन प्रसूताओं ने पैसे नहीं दिए तो उक्त महिला ने न सिर्फ महिलाओं से गाली गलौंच की बल्कि उन्हें पलंग से हटाने की धमकी भी दे डाली। इसके अलावा पैदा हुए नवजात के मरने की बद्दुआ तक देने के आरोप महिलाओं ने लगाए हैं। जिन महिलाओं ने पैसे नहीं दिए उनसे यहां तक कहा कि तुम्हारे इन कपड़ों को कौन धोएगा। शिकायत करने वालों में दशरथ रावत, सुखवीर रावत, रामसखी, गीता, वंटी रावत, निशा विश्वकर्मा, लता, मीना आदि महिलाएं शामिल हैं।

पहली बार नहीं हुआ है वसूली पर बबाल

यहां बताना होगा कि अस्पताल में वसूली पर पहली बार बबाल नहीं हुआ है। इससे पहले भी कई बार वसूली पर बबाल सामने आ चुका है। लेबर रूम में नर्स द्वारा खुलेआम वसूली करने तक का स्टिंग ऑपरेशन हो चुका है। हर बार अधिकारी स्टाफ पर रहम कर देते हैं, जिसकी वजह से मेटरनिटी विंग में वसूली थमने का नाम नहीं ले रही है। यहां बताना होगा कि दो माह पूर्व भी एक शिक्षिका से अवैध वसूली का मामला सामने आया था। इस मामले को नईदुनिया ने प्रमुखता से साथ प्रकाशित किया। उक्त मामले में जांच करने के बाद वसूली करने वाली एक महिला कर्मचारी को हटा दिया गया था। साथ ही एक अन्य महिला कर्मचारी का खनियाधाना स्थानांतरण किया गया था।

इनका कहना है
मामले की मौखिक शिकायत तो मेरे पास आई है, मैंने उनसे लिखित शिकायत करने को कहा है। लिखित शिकायत मेरे पास आने के उपरांत हम मामले की जांच करवाएंगे और उचित कार्रवाई करेंगे।
डा.संतोष पाठक, आरएमओ जिला अस्पताल