Shivpuri News- भाजपा में बगावत: टिकिट नहीं मिले तो वर्षो के संबंधों को भूले

शिवपुरी
। आज नगर पालिका चुनाव में पर्चे दाखिल करने का अंतिम दिन था। आज जिले में लगभग सभी बार्डो में आखिरी दिन कोई न कोई फार्म भरा गया है। परंतु आज आखिरी दिन जिले में टिकट नहीं मिलने से असंतुष्ट भाजपा के दिग्गज नेता जो कभी अपनी पार्टी में जी और जान होने का दावा करते आ रहे थे वह भी पार्टी के सभी संबंधों को छोड़कर निर्दलीय मैदान में उतर रहे है।

भाजपा में टिकट के आकांक्षी दावेदारों की संख्या काफी अधिक होने से जिन्हें टिकट मिला है, उनके समक्ष भितरघात की समस्या खड़ी हो गई है। क्योंकि टिकट न मिलने से नाराज दावेदार बागी रूप से चुनाव मैदान में आने का निर्णय ले चुके हैं। बागी उम्मीदवारों में भाजपा के वर्तमान पार्षद भी शामिल हैं।

वार्ड क्रमांक 20 में वर्तमान पार्षद श्रीमति रेखा गब्बर परिहार ने टिकट न मिलने से खफा होकर निर्दलीय रूप से चुनाव मैदान में उतरने का निर्णय लिया है। यहां से भाजपा ने विजय शर्मा विंदास को उम्मीदवार बनाया है। वार्ड क्रमांक 5 से पूर्व पार्षद मनीष गर्ग मंजू टिकट की मांग कर रहे थे और उनके स्थान पर भाजपा ने ओमी जैन को उम्मीदवार बनाया। इससे आक्रोशित होकर मनीष गर्ग ने अपनी धर्मपत्नी श्रीमती कविता गर्ग को चुनाव लड़ाने का निर्णय लिया है।

हालांकि वह खुद चुनाव लड़ना चाहती थीं। लेकिन मतदाता सूची में उनका नाम रहस्यमय ढंग से काट दिया गया। जिससे वह चुनाव लडऩे से वंचित रहीं। वार्ड क्रमांक 37 में भाजपा ने सामंजस्य बनाते हुए वार्ड क्रमांक 3 से टिकट की मांग कर रहे सिंधिया समर्थक विवेक अग्रवाल को टिकट दिया। श्री अग्रवाल वार्ड क्रमांक 3 से टिकट मांग रहे थे। लेकिन उनके स्थान पर पूर्व नपा उपाध्यक्ष भानू दुबे की धर्मपत्नी श्रीमती नीतू दुबे को टिकट दिया गया।

वार्ड क्रमांक 37 से बाहरी उम्मीदवार उतारे जाने से खफा होकर टिकट के दावेदार भाजपाई गौरव सिंघल ने निर्दलीय रूप से चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है। वार्ड क्रमांक 38 से पूर्व पार्षद रहे भोपाल सिंह दांगी अपने लिए अथवा अपनी पत्नी श्रीमति गुणमान दांगी के लिए टिकट मांग रहे थे। लेकिन उनके स्थान पर पार्टी ने वेदांस सेन को उम्मीदवार बनाया।

इस निर्णय से असंतुष्ट होकर भोपाल सिंह दांगी और उनकी पत्नी गुणमान दांगी ने भाजपा छोडऩे की घोषणा कर दी है। वार्ड क्रमांक 36 में टिकट न मिलने से असंतुष्ट भाजपाई श्याम परिहार ने पार्टी छोड़ते हुए निर्दलीय रूप से चुनाव मैदान में उतरने के लिए ताल ठोक दी है। वार्ड क्रमांक 4 से मंगल सिंह परिहार निर्दलीय रूप से चुनाव लड़ रहे हैं। वार्ड क्रमांक 6 से भाजपा जिला उपाध्यक्ष मंजूला जैन ने टिकट की मांग की थी।

लेकिन उनके स्थान पर भाजपा कार्यकर्ता जुगनू मित्तल की पत्नी सोनम मित्तल को टिकट दिया गया। इससे नाराज होकर श्रीमति जैन ने फिलहाल तो अपील समिति में अपील कर दी है। अभी उन्होंने यह स्पष्ट नहीं किया कि वह टिकट न मिलने पर निर्दलीय रूप से चुनाव लड़ेंगी अथवा नहीं लड़ेंगी।

पोहरी में भी टिकट न मिलने से असंतुष्ट भाजपाईयों ने की बगावत

नगर पंचायत पोहरी में पार्षद पद हेतु भाजपा महिला नेत्री श्रीमति प्रतिभा जैन और भाजपा महिला मोर्चा मंडल अध्यक्ष राजकुमारी शैलेंद्र सिंह धाकड़ ने टिकट न मिलने पर बगावत कर दी है। भाजपा नेत्री प्रतिभा जैन ने बताया कि वह लंबे समय से पार्टी के विभिन्न पदों पर कार्य कर रही हैं।

उन्होंने पूरी लगन व निष्ठा से कार्य किया और उनके प्रति जनसंघ के  समय से ही पार्टी की विचारधारा से जुडे रहे और वे पार्टी का झंडा थामकर जम्मू कश्मीर तक पैदल यात्रा पर भी गए थे। इसके बाद भी उन्हें दरकिनार कर टिकट नहीं दिया गया। श्रीमति पुष्पा जैन ने निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में अपनी नामजदगी का पर्चा भर दिया है।  

वार्ड क्रमांक 10 से भाजपा महिला मोर्चे की मंडल अध्यक्ष राजकुमारी शैलेंद्र सिंह धाकड़ पार्टी से टिकट की मांग कर रही थीं। लेकिन पार्टी ने भाजपा महामंत्री पृथ्वीराज जादौन को टिकट दे दिया, तो इससे नाराज होकर उन्होंने बगावत का बिगुल बजाकर निर्दलीय उम्म्ीीदवार के रूप में अपना नामांकन दाखिल कर दिया है।

मैं भाजपा की निष्ठावान कार्यकर्ता, नहीं लडूंगी निर्दलीय चुनाव : मंजूला जैन

भाजपा जिला उपाध्यक्ष मंजूला जैन ने उनके निर्दलीय रूप से चुनाव लडऩे की खबरों का खंडन किया है। श्रीमति जैन ने कहा कि वह भाजपा की निष्ठावान कार्यकर्ता हैं और निर्दलीय रूप से चुनाव मैदान में नहीं उतरेंगी। मंजूला जैन ने बताया कि उन्होंने शिवपुरी नगर पालिका के वार्ड क्रमांक 6 से टिकट की मांग की थी। लेकिन कोर कमेटी ने उन्हें टिकट न देते हुए एक अन्य महिला को टिकट दे दिया, जो कि पार्टी में कभी सक्रिय नहीं रही। कोर कमेटी के निर्णय के विरोध में उन्होंने अपील समिति में अपील की है और अपील समिति का जो भी निर्णय होगा, वह उन्हें शिरोधार्य होगा।