Shivpuri News- वार्ड नंबर 21 के लोगों ने चुनाव का किया बहिष्कार

शिवपुरी। आज शिवपुरी में वार्ड नंबर 21 के नागरिकों ने कॉलोनी में पानी निकासी की समस्या को लेकर शांतिपूर्ण तरीके से चुनाव के बहिष्कार का एलान किया। कॉलोनी बासियों का आरोप है कि शिवपुरी जिले में पिछली बार बाढ़ के हालातों से कई घर उजड़ गए थे, यहां तक कि शहर में बाढ़ की स्थिति बन गई थी जिसके कारण शहर भर के कई परिवारों को लाखों रुपए का नुकसान उठाना पड़ा था, 1 साल गुजर जाने के बाद भी आज दिनांक तक जिन क्षेत्रों में जल भराव की स्थिति बनी थी, उन क्षेत्रों में नगरीय प्रशासन कोई भी व्यवस्था को सुधारने के लिए कदम नहीं उठाए गए जिससे नाराज वार्ड वासियों ने अब नगर निकाय के चुनावों में होने वाले मतदान में शामिल न करने की ठान ली है, जिसको लेकर वार्ड वासियों ने प्रोटेस्ट कर दिया।

शहर के वार्ड क्रमांक 21 के रहवासियों ने शांतिपूर्ण तरीके से प्रोटेस्ट किया, इस दौरान वार्ड के कई महिला बच्चे और बुजुर्ग इस प्रोटेस्ट में शामिल हुए लोगों का कहना है कि बीते वर्ष उनके वार्ड में अधिक बारिश होने के चलते लाखों रुपए का नुकसान उठाना पड़ा था, इसके बावजूद नगरीय प्रशासन ने कोई भी समस्या को निपटाने के लिए कदम नहीं उठाए, एक बार फिर बारिश का मौसम आ गया है और अब उन्हें डर लग रहा है कि इस बार भी कहीं उन्हें पिछली बार की तरह अपने परिवार को लेकर वर्षा काल के दौरान पलायन न करना पड़ जाए, इसी के चलते इस बार वार्ड वासियों ने नगरीय निकाय के चुनावों में होने वाले मतदान का बहिष्कार किया है।

वार्ड क्रमांक 21 की रहने वाली महिला ज्योति पांडे का कहना है कि उनके वार्ड में जल भराव की स्थिति हर बार निर्मित हो जाती है, जिसके चलते उन्हें कई दिनों तक अपने घर से अपने बुजुर्गों को लेकर पलायन करना पड़ता है साथ ही नगरीय प्रशासन की ओर से मिलने वाली सुविधाओं का भी लाभ नहीं मिल रहा है। बीते वर्ष उन्हें 5 दिन तक लगातार बारिश होने के कारण परेशानियों का सामना करना पड़ा था।

ज्योति पांडे का कहना है कि जलभराव की स्थिति में उनके बुजुर्गों को 5 दिनों तक चाय तक नहीं पिला पाई थी जिसके बाद उन्हें अपने बुजुर्गों के साथ पलायन करना पड़ा था इस बार में वह मन बना चुकी है कि वह जब तक वार्ड का विकास नहीं होगा तब तक नगरीय निकाय चुनाव सहित आगामी समय में होने वाले चुनावों में अपना मतदान नहीं करेगी।

वार्ड क्रमांक 21 के रहवासियों का कहना है कि यहां एक छोटा तालाब है, जिस पर अतिक्रमण कर रखा है, जिसकी शिकायत वार्ड वासियों ने कई बार जिला प्रशासन से लेकर विधायक सहित मंत्रियों से की है लेकिन तालाब पर होने वाले अतिक्रमण पर रोक नहीं लगाई गई, जिसके चलते वार्ड में जलभराव की स्थिति बनती है। इस बार होने वाली वर्षा के कारण परेशान होना पड़ेगा, जिसके चलते वे मतदान का बहिष्कार कर रहे है।