जिहादी कट्टरता और हिंसा के विरूद्ध बजरंग दल उतरा सड़कों पर,सौंपा राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन- Bairad News

बैराड़।
बजरंग दल प्रखंड बैराड़ द्वारा देश में बढ़ रही इस्लामिक जिहादी कट्टरता और हिंसा करने वालों पर कार्रवाई करने के संदर्भ में राष्ट्रपति महोदय भारत सरकार के नाम तहसीलदार बैराड़ को ज्ञापन सौंपा।

बजरंग दल संयोजक प्रिंस प्रजापति ने बताया कि मस्जिदों से निकलने वाले जेहादी कट्टरपंथी लगातार हिंदुओं के घरों को जला रहे हैं और उन पर जानलेवा हमला कर रहे हैं इन सब घटनाओं के विरुद्ध बजरंग दल ने गुरुवार को देशभर मैं धरने देकर राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा है साथ ही ज्ञापन में मांग रखीं गई कि गत शुक्रवार को जुम्मे की नमाज के बाद जिन मस्जिदों से उन्मादी भीड़ व दंगाई निकले थे उन पर कड़ी निगरानी रखी जाए।

जिन लोगों ने उस भीड़ को उकसाया उनके विरुद्ध भी कठोर कार्यवाही अभिलंब कर गिरफ्तारी हो, उन्होंने मांग की कि जिन को धमकियां दी जा रही हैं उन लोगों की सुरक्षा निश्चित की जाए तथा जो लोग यह धमकियां दे रहे हैं उनके विरुद्ध भी आपराधिक मामले दर्ज कर अविलंब गिरफ्तारी सुनिश्चित की जाए साथ ही हिंसा में शामिल लोगों के साथ जिहादी मानसिकता के लोगों, मस्जिदो तथा जमीयत उलेमा ए हिंद जैसे संगठनों के विरुद्ध भी शिकंजा कसा जाए जोकि दंगाइयों के खाद पानी व प्रेरणा के स्रोत हैं।

इस ज्ञापन में जिला सह मंत्री रामकुमार शर्मा, जिला सत्संग प्रमुख दिलीप मरैया, जिला सेवा प्रमुख महावीर कर्ण, राघवेंद्र छोटू गुप्ता, प्रखंड मंत्री अंकित गुप्ता, बजरंग दल संयोजक प्रिंस प्रजापति, जीतेंद्र शर्मा, विकास तोमर, छोटू ओझा,अंकुर गर्ग, धीरज तोमर, अजमेर सिंह चंदेल, नंदकिशोर प्रजापति, अरविंद, हेमंत, अशोक, मयंक सहित बजरंग दल के दर्जनभर से अधिक की संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

ज्ञापन में यह रखी है मांगे

1. गत शुक्रवार जुम्मा की नमाज के बाद मस्जिदों से निकली उन्मादी भीड़ और दंगाइयों को पहचान कर उन पर रासुका के तहत कार्यवाही की जाए 17 जून को इन मस्जिदों सहित अन्य मस्जिदों पर भी निगरानी रखी जाए मुल्ला- मौलवियों या अन्य किसी को भी ज्यादा भाषण देने से तुरंत रोका जाए

2. इनको भड़काने वाली मल्ला मौलवीयों व अन्य मुस्लिम का सर्कुलर नेताओं की पहचान कर उन पर भी रासुका लगाकर जिला बदर की कार्रवाई की जाए।

3 देशभर में ऐसी जहरीले भाषण देने वालों को चिन्हित कर उन पर कार्रवाई की जाए।

4. जिनको धमकियां दी जा रही हैं उन को सुरक्षा उपलब्ध कराई जाए तो धमकी देने वालों पर भी कठोर कार्रवाई की जाए।

5. जिन मस्जिदों मदरसों से उन्मादी भीड़ निकली उनकी एनआईए जांच कराई जाए।

6. इस्लामिक जिहादी कट्टरता फैला कर देश में हिंसा कराने वाले संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया व तबलीगी जमात जैसे कट्टरपंथी संगठनों पर अभिलंब प्रतिबंध लगाया जाए।

7. जिन स्थानों पर हिंदू अल्पसंख्यक हो गया है वहां पर उनकी सुरक्षा की व्यवस्था की जाए अनिवार्य रूप से पुलिस चौकी स्थापित की जाए तथा वहां तैनात सुरक्षाकर्मियों को पर्याप्त सुविधाएं एवं अधिकार दिए जावे।