गुर्जर समाज की बैठक: हरिगिरी महाराज बोले हर्ष फायर करने बालों को शादी में न ​बुलाएं - Shivpuri News

शिवपुरी। हर्ष फायर से कई जगह दुर्घटनाएं घटित हुई है, और खुशी के माहौल मातम में बदले हैं। ऐसे में फायर करना शादी विवाह में किसी भी प्रकार से उचित नहीं है। गुर्जर समाज को चाहिए कि वह इस पर गंभीरता से विचार करें और हर्ष फायर पर रोक लगाए। यह बात गुर्जर समाज के लोगों से चंबल के संत हरि गिरि महाराज ने कही।

महाराज ने यह भी कहा कि अभी तो शुरुआत है, अगर आगे नहीं माने तो जिस प्रकार शराब से लोग मर रहे हैं,उसी प्रकार हर्ष फायर से भी लोग मरेंगे और समाज एक बार फिर घृणा की निगाह से इस संसार में देखा जाएगा। गुर्जर समाज लोगों ने बताया कि शादी समारोह में हर्ष फायर के दौरान आए दिन घटनाएं दुर्घटनाएं हो रही हैं। जिसको लेकर महाराज जी द्वारा एक बैठक की गई।

जिसमें जिले के गुर्जर समाज के लोग भी उपस्थित हुए और सभी की राय से हर्ष फायर को पूर्ण प्रतिबंध करने पर विचार किया। संत हरिगिरि महाराज ने कहा की जिस प्रकार समाज ने पूर्व में दहेज बंदी, मृत्युभोज, शराबबंदी जैसी कुप्रथाओं को समाप्त कर महाराज के वचनों को माना है, उसी प्रकार हर्ष फायर का भी पूर्णत: त्याग करें और हर्ष फायर करने वालों को शादी में ना बुलाएं।

संत हरिगिरि महाराज ने समाज को कड़े शब्दों में चेतावनी देते हुए कहा कि वैसे मैं किसी को श्राप नहीं दे रहा लेकिन यह बात सच है कि जिस व्यक्ति ने पंच और संत के वचनों की अवहेलना की उसको दंड भुगतना ही पड़ेगा।