हरभजन ने दुकान पर चोरी की शिकायत की थी, इसलिए दोस्तों ने हत्या की - kolaras News

कोलारस। खबर जिले के कोलारस थाना क्षेत्र के कोलारस क्षेत्र से आ रही है। जहां बीते 26 अप्रैल को एक युवक के अंधे कत्ल का पुलिस ने महज 5 दिन में ही खुलासा कर लिया है। इस मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को भी हिरासत में ले लिया है। बताया गया है कि आरोपियों ने चोरी की शिकायत के चलते उक्त वारदात को अंजाम दिया है।

जानकारी के अनुसार थाना कोलारस मे 26 अप्रैल को फरियादी रामप्रसाद पाल नि0 भडौता चक ने बताया कि मेरा लड़का हरभजन खरई वाले के यहां किराने की दुकान पर कोलारस में काम करता था जो लौटकर नहीं आया सुबह पता चला कि मेरे लडके हरभजन की लाश भडौता चक रोड पर खन्ती में लटके पेड की डाल से रस्सी से फांसी लगी लटकी है । रिपोर्ट पर से मर्ग कायम कर जांच के दौरान आई साक्ष्य के आधार पर धारा 302 ताहि0 का अपराध पंजीबद्ध किया गया ।

थाना कोलारस के भडोता चक रोड पर हुए अंधे कत्ल के शीध्र निकाल एवं आरोपीगणों कि गिरफ्तारी हेतु श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय श्री राजेश सिहं चन्देल के द्वारा आदेशित किया गया था । श्रीमान के आदेश पालन में श्रीमान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदय प्रवीण भूरिया जी एवं एसडीओपी महोदय अनुभाग कोलारस दीपक सिह तोमर जी के मार्गदर्शन में मुखविर तन्त्र को मजबूत किया गया।

विवेचना के दौरान साक्ष्य के आधार पर खरई वाले के यहां किराने की दुकान पर पूर्व में मृतक के साथ काम करने वाले कर्मचारियों से पूछताछ की गई तो उनमें से पूर्व के दो कर्मचारियो ने पूछताछ में जुर्म कबूल करते हुए बताया कि हम दोनों खरई वाले के यहां किराने की दुकान पर कोलारस में काम करते थे हम दोनों के साथ में ग्राम भडौता का हरभजन पाल भी काम करता था।

जिसने हम दोनों की दुकान में चोरी करने की शिकायत दुकान मालिक से कर दी थी जिससे दुकान मालिक ने हम दोनों को काम से हटा दिया था जिससे हमें कहीं काम नहीं मिल रहा था इसलिए हम दोनों ने हरभजन को मारने की योजना बनाई थी । दिनांक 25.04.2022 को हम दोनों भडौता रास्ते पर मस्जिद के पास पुलिया पर पहुंचे वहीं रास्ते में उन्हें हरभजन पाल अपनी सायकल से घर जाते मिला जिसे उन लोगों ने रोककर कुछ देर शराब पी।

इसके बाद दोनों ने हरभजन की साईकिल मस्जिद के पास खेत में ताला लगवाकर रखवा दी थी फिर दोनों ने हरभजन को लडकी से मिलवाने का लालच देकर अपनी मो0सा0 पर बिठाकर भडौता चक रोड पर ले गये थे । वहां एक जगह मोटर साईकल रोककर हरभजन को उतारा और उसकी झूमा झटकी कर मोटर साईकिल में पहले से लाई हुई रस्सी निकाल कर उसके गले में रस्सी का फंदा डालकर हरभजन को खन्ती में कटे पेड की डाल पर लटका दिया।

जिससे उसकी मृत्यु हो गई और वो दोनों हरभजन का मोबाइल निकाल कर वहां से भाग आये और जगतपुर के पास एक कुआ में हरभजन का मोबाइल फैंक दिया था जिससे उक्त दोनों की निशादेही पर कुएं में से बरामद किया गया तथा मृतक की साइकिल भी भडोता रोड मस्जिद के पीछे से जब्त की गई । पुलिस ने इस मामले में दोनों आरोपी बृदावन लोधी निवासी राजापुर ,दूसरा मोहन गिरी गोस्वामी जेल रोड कोलारस उम्र 30 साल को गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय पेश किया जा रहा है ।

इस अंधे कत्ल का खुलासा करने एवं आरोपियों की गिरफ्तारी करने में निरीक्षक आलोक सिंह भदौरिया ,उनि. श्याम सिंह जादौन, उनि. रूपेश शर्मा, सउनि. रामसिंह भिलाला, सउनि. शत्रुघ्न सिंह भदौरिया , प्र.आर. 43 दिलीप सिंह , आर. 874 प्रभजोत सिंह, आर0 237 नाहर सिंह, आर. चालक 926 बलराम मोगिया की विशेष भूमिका रही ।