पुनर्विवाह: अंजली और राहुल के परिणय बंधन में बधं जाने से चार बच्चो को मां और पिता मिले - kolaras News

कोलारस। कोलारस‎ कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण‎ फैलने से सैकड़ों जिंदगी खत्म हो गईं।‎ इन्हीं में एक युवक की पत्नी दो बच्चों‎ को छोड़कर चल बसी। वहीं एक‎ युवती का पति भी दो बच्चों के रहते‎ दुनिया छोड़कर चला गया। कोरोना‎ की वजह से दो परिवार बिखर गए।‎ लेकिन परिजनों ने युवक और युवती‎ की शादी करा दी। इसी के साथ चारों‎ बच्चों को माता-पिता मिल गए हैं।‎ अब मिलकर चारों बच्चों का भविष्य‎ संवार सकेंगे।‎

जानकारी के मुताबिक अंजली‎ गोयल के पति हेमंत पुत्र जगदीश‎ प्रसाद का निधन कोरोना बीमारी के‎ चलते हो गया। वहीं बदरवास के रहने‎ वाले राहुल पुत्र रामेश्वर गर्ग की पत्नी‎ का कोरोना बीमारी में निधन हो गया।‎ अंजली अपने दो बेटों के साथ‎ अकेली पड़ गई वहीं राहुल भी दो‎ बेटों के संग अकेला रहने लगा।

एक‎ तरफ दो बेटों को पिता की कमी खल‎ रही थी तो दूसरी तरफ दो बच्चे मां के‎ प्यास को तरस रहे थे। परिवार के‎ सदस्य और मित्रों ने मिलकर राहुल‎ और अंजनी के रिश्ते की चर्चा की‎ और बात बन गई। इसी के साथ राहुल‎ और अंजनी की शादी भी करा दी है।‎ इसी के साथ चारों बच्चों को फिर से‎ माता-पिता मिल गए हैं।‎

घर बसाया, बच्चों‎ को मिली‎ छत्र-छाया‎ परिवार के सदस्य और मित्रों‎ ने मिलकर कोलारस की‎ अंजली और बदरवास के‎ राहुल की शादी शिवपुरी शहर‎ के एक निजी होटल में करा दी‎ है। दोनों ने फिर से नए दांपत्य‎ जीवन की शुरूआत की है।‎ वहीं चारों बच्चों के सिर पर‎ फिर से माता-पिता की‎ छत्रछाया बन गई है।‎ पुनर्विवाह की इस पहले की‎ हर कोई सराहना कर रहा है।‎