कूडा प्लान्टेशन में लापरवाही बरतने वाले 4 वन कर्मचारी DFO ने किए संस्पेंड, वसूली जा सकती हैं राशि - Shivpuri News

शिवपुरी। वन विभाग के कूड़ा प्लान्टेशन मामले को वन मंडलाधिकारी श्रीमती मीना कुमारी मिश्रा ने गम्भीरता से लिया है और इस प्लान्टेशन के नष्ट होने के आरोप में उन्होंने सख्त कदम उठाते हुए दो वनपाल व 2 वनरक्षकों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया हैं।

कूड़ा गाँव में गत दिवस वन हमले को धकियाते हुए कूड़ा गाँव के युवक ट्रैक्टर-ट्रॉली छिनाकर भागने में सफल हो गए थे वन अधिकारी के शिकायती आवेदन पर आरोपितों पर तो तेंदुआ पुलिस ने मामला दर्ज किया था मगर इस प्लान्टेशन को अपनी मिलीभगत से नष्ट कराने वाले अमले पर कोई कार्यवाही नहीं की गई थी चार कर्मचारियों के निलम्बन से विभाग में हडकम्प मच गया वहीं अन्य प्लांटेशन में गडबडी करने वाले कर्मचारियों व् अफसरों का थूक सूख रहा है।

उल्लेखनीय है कि 5 मई को उप वन मंडलाधिकारी एमके सिंह राजगढ़ बीट अंतर्गत वन भ्रमण करने गए थे। भ्रमण के दौरान वह वर्ष 2017-18 में किए गए पौधारोपण का निरीक्षण करने पहुंचे। उन्हें वहां पर कुछ लोग ट्रेक्टर-ट्रॉली में बोल्डर-पत्थर भरते हुए मिले। जब एसडीओ एमके सिंह अपने बल के साथ कार्रवाई करने पहुंचे तो चार लोगों ने वन अमले को न सिर्फ गंदी-गंदी गालियां दीं बल्कि जान से मारने की धमकी देते हुए शासकीय कार्य में बाधा उत्पन्ना की।

ट्रेक्टर-ट्रॉली जबरन छुड़ा कर ले गए

वन टीम से ट्रेक्टर-ट्रॉली को जबरिया छुडा कर ले जाने वाले 4 आरोपितो के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज करने के उपरांत पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार करने के लिए उनके गांव जाकर सर्चिंग की लेकिन वह गांव में नहीं मिले। इसी दौरान तेंदुआ थाना प्रभारी मुकेश दुबोलिया को सूचना मिली कि आरोपित शिवपुरी स्थित हनुमान कॉलोनी में हैं। पुलिस ने बताए गए स्थान पर दबिश दी और दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

वन मंडलाधिकारी ने इस मामले को गम्भीरता से लेते हुए इस 19 लाख 92 हजार के प्लान्टेशन को नष्ट होते देखने के बाद भी कार्यवाही न करने पर विभागीय अमले पर सख्त कार्यवाही की है।
वन मंडलाधिकारी श्रीमती मीना कुमारी मिश्रा ने इस अनियमितता पर वनपाल अशोक जाटव,वनपाल ओमप्रकाश गौड़ ,वनरक्षक सुभाष चतुर्वेदी एवं वन रक्षक लखन जाटव को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया हैं। चर्चा है की इस प्लान्टेशन की लगत भी इन्ही से वसूली की तैयारी चल रही हैं।