नौतपा के छठवें दिन गर्मी ने फिर तपाया, तापमान 42 डिग्री पहुंचा, बाजारों में भी छाया सन्नाटा- Shivpuri News

शिवपुरी।
नौतपा के पहले दो दिन बरसात के कारण तापमान में तेजी से गिरावट आई थी और गर्मी से लोगों ने राहत की सांस ली थी। लेकिन इसके बाद गर्मी का प्रकोप तेजी से बढऩे लगा। नौतपा के छठवें दिन गर्मी आसमान पर पहुंच गई। सुबह से ही तेज गर्मी प्रारंभ हो गई थी और 10 बजे के बाद लू का प्रकोप शुरू हो गया। भीषण गर्मी से जनजीवन बेहाल है। बाजारों और सड़कों पर गर्मी के कारण सन्नाटा छाया हुआ है तथा बहुत आवश्यक पडऩे पर ही लोग घरों से बाहर निकल रहे हैं।

गर्मी के कारण बीमारी का प्रकोप भी बढ़ गया है। तापमान फिर से बढ़कर 42 डिग्री पर पहुंच गया है और रात में भी गर्मी से राहत नहीं मिल रही। बुजुर्गों का कहना है कि शिवपुरी में इससे पहले कभी इतनी भीषण गर्मी नहीं पड़ी। गर्मी के कारण कूलर और पंखे फैल हो गए हैं और एसी से भी मुश्किल से राहत मिल रही है। गर्मी के कारण बिजली कटौती भी बढ़ गई है। जिससे लोगों को और अधिक परेशानी उत्पन्न हो रही है। जहां तक कि रात में भी कई इलाकों में तीन से चार घंटे की अघोषित कटौती की जा रही है।

इस बार गर्मी ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। अप्रैल के प्रथम सप्ताह से ही तेज गर्मी शुरू हो गई है। एक समय तो दिन का तापमान बढ़कर 46 डिग्री पर पहुंच गया था। रात में भी गर्म हवाएं चल रही हैं। लेकिन नौतपा से एक दिन पहले शिवपुरी में तेज बारिश हुई थी। जिससे दो दिन तक राहत महसूस हुई। वहीं लोगों में इस बात की भी घबराहट थी, क्योंकि कहा जाता है कि नौतपा में गर्मी न बढऩे से अच्छी बरसात नहीं होती है। लेकिन मौसम वैज्ञानिकों ने इसके बाद भी इस बार अच्छी बरसात की संभावना दशाई है।

पिछले 3-4 दिन से गर्मी ने फिर तेज रफ्तार पकड़ ली है और सुबह से ही गर्मी का प्रकोप शुरू हो जाता है तथा 10 बजे के बाद तो इतनी गर्मी बढ़ जाती है कि घर से निकलना मुश्किल हो जाता है। इस कारण अतिआवश्यक काम पडऩे पर ही लोग घर से बाहर निकल रहे हैं। जिससे बाजारों और सड़कों पर लोगोंं की आवाजाही कम देखने को मिल रही है। बिजनेस पर भी तेज गर्मी का असर पड़ा है और तेज गर्मी के कारण व्यापारी भी बेहाल नजर आए हैं।

वैज्ञानिकों के अनुसार अभी गर्मी से 3-4 दिन राहत मिलने के आसार नहीं है। गर्मी से उल्टी, दश्त और बुखार के मरीजों की संख्या भी बढ़ रही है। अस्पताल में भी मरीजों की भीड़ बढ़ रही है। गर्मी से सबसे ज्यादा परेशान बुजुर्ग और छोटे-छोटे बच्चे हैं। जिन घरों में इनर्वटर नहीं है, वहां अधिक परेशानी महसूस की जा रही है। गर्मी में विद्युत कटौती भी अचानक बढ़ गई है। दिन में कई इलाकों में तीन-तीन, चार-चार घंटे की अघोषित कटौती की जा रही है और रात्रि में भी विद्युत कटौती सोने नहीं दे रही।

जून के तीसरे सप्ताह में मानसून आने के आसार

बताया जाता है कि केरल में तो मानसून का आगमन हो गया है। लेकिन मानसून की गति शिथिल पड़ गई है। जिससे प्रदेश में मानसून हमेशा की तरह जून के तीसरे हफ्ते में पहुंचेगा।

मौसम विभाग ने शिवपुरी में 20 जून तक मानसून पहुंचने की संभावनाएं जताई है। हालांकि शिवपुरी जिले में प्री मानसून सहित ओलावृष्टि की दस्तक पहले ही दर्ज हो चुकी है। इसके बावजूद गर्मी अपना रौद्र रूप फिर से एक बार धारण किए हुए हैं। अत्यधिक गर्मी के चलते एक बार फिर लोगों को घर में रहने को मजबूर होना पड़ रहा।