नर कंकाल का खुलासा: पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर की थी हत्या, पत्नी और प्रेमी गिरफ्तार - Shivpuri News

करैरा। खबर जिले के करैरा अनुविभाग के दिनारा थाना क्षेत्र के ग्राम दांगीपुरा थाना अमोला से है। जहां आज एक युवक की गुमशुदगी से जब पर्दा उठा तो हर कोई सोचने पर मजबूर हो गया। दरअसल बीते 28 मार्च को देवलाल पुत्र गजुआ प्रजापति उम्र 55 साल निवासी दांगीपुरा ने थाने में शिकायत करते हुए बताया कि उसका बेटा महेश प्रजापति उम्र 28 साल अपनी बहू गीता के साथ ग्राम कुर्रोल में खेती करता है। बीते 27 मार्च को बेटा महेश अपनी पत्नि गीता से मैगी लेने की कहकर निकला और वापस नहीं लौटा। जिस पर पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर युवक की खोज में जुट गई।

इस दौरान पुलिस ने गुम इंसान जांच के दौरान साइबर सैल से गुमसुदा की पत्नी की काल डिटेल प्राप्त की गई जिसके आधार पर पुलिस अधीक्षक शिवपुरी राजेश सिंह चंदेल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रवीण भूरिया, एस डी ओ पी करैरा जी. डी. शर्मा के द्वारा गुम इंसान जांच हेतु थाना प्रभारी दिनारा संतोष भार्गव को निर्देशित कर टीम गठित कर सतर्कता के साथ गुम इंसान जांच करने हेतु निर्देशित किया।

थाना प्रभारी दिनारा संतोष भार्गव चौकी प्रभारी थनरा सतीश जयंत सउनि सोवरन सिंह सिसोदिया द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुये गुमसुदा की पत्नी गीता प्रजापति एवं संदेही अंकित गौर से हिकमत अमली से पूछताछ की गई तो दोनो के द्वारा एक दूसरे से करीवन 8-9 माह से प्रेम प्रसंग में होने की बात स्वीकार की और घटना दिनांक को सत्रह वार फोन से बात करना सामने आया।

इसी दौरान जब पुलिस ने जांच की तो पता चला कि गुमशुदा महेश प्रजापति को उक्त प्रेम प्रसंग का पता चलने पर गुमसुदा महेश द्वारा अपनी पत्नी गीता के साथ मारपीट करना इसी के चलते गीता द्वारा अपने प्रेमी अंकित गौर के साथ मिलकर ग्राम कुर्रोल में अपने घर में पति महेश प्रजापति की गला दबाकर हत्या कर उसकी लाश मृतक की मोटर साईकिल से ग्राम दांगीपुरा (रामपुरा) के जंगल में नरिया के किनारे लाश को फेंक दिया है।

पुलिस ने दोनों से सख्ती से पूछताछ की तो सामने आया कि मृतक महेश प्रजापति का कंकाल जप्त किया जाकर आरोपी गीता पत्नी महेश प्रजापति उम्र 30 साल निवासी ग्राम दांगीपुरा हाल ग्राम कुर्रोल एवं अंकित पुत्र इमरत सिंह गौर उम्र 23 साल निवासी ग्राम दांगीपुरा थाना अमोला को गिरफ्तार किया गया है वापसी पर अप क्रं. 87/22 धारा 302.201,34 ता.हि. का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

उक्त अंधेकत्ल का पर्दाफास करने में सराहनीय भूमिका थाना प्रभारी दिनारा संतोष भार्गव चौकी प्रभारी थनरा सतीश जयंत, सउनि सोवरन सिंह सिसोदिया, प्र. आर. 928 दीपक उपाध्याय, प्र. आर. 498 अशोक तिवारी, आर. आशीष शर्मा, आर. मनीष गोस्वामी, आर चालक अमित यादव, आर. 778 रामवीर बघेल, महिला आरक्षक पूजा प्रजापति की रही है।