कलश यात्रा के साथ शांति नगर में शुरू हुई श्रीमद भागवत कथा,जगह जगह हुआ स्वागत- Shivpuri News

शिवपुरी। आज नवरात्रि के पहले दिन शहर के शांति नगर में स्थित प्राचीन हनुमान मंदिर पर संगीतमय श्रीमद् भागवत कथा का शुभारंभ किया जा रहा है। जिसे लेकर आज कलश यात्रा निकाली गई। कथा का आयोजन समस्त बजरंग मंडल एवं भक्तगण के द्वारा किया जा रहा है।

कथा का वाचन कथा व्यास पं. मुकेश उपाध्याय अमरपुर वालों के श्रीमुख से किया जा रहा है। कथा प्रतिदिन 1 बजे से प्रारंभ होकर शाम 5 बजे तक चलेगी। कथा का समापन 9 अप्रैल को पूर्णाहूति और भंडारे के साथ होगा। अभी हाल ही में प्राचीन हनुमान मंदिर का जीर्णोधार कालोनी बासियों द्धारा कराया गया है। उसके बाद मंदिर में मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा के साथ साथ यह आयोजन किया जा रहा है।

इस कलश यात्रा का रास्ते में जगह जगह भव्य स्वागत किया। जिसमें ठेकेदार अर्पित शर्मा ने अपने निवास पर पुष्पवर्षा के साथ शीतल जल,ठण्डाई और कोल्डड्रिंक से इस यात्रा का स्वागत किया। उसके बाद लालकोठी के पास शिवपुरी समाचार डॉट कॉम द्धारा इस शोभा यात्रा का स्वागत किया गया। यह शोभा यात्रा जैसे ही शांति नगर में पहुंची वहां सभी भक्तों को आशु शर्मा जरिया बालों ने ठण्डाई के साथ इस यात्रा का स्वागत किया। आयोजक मंडल ने श्रीमद् भागवत कथा में अधिक से अधिक संख्या में श्रृद्धालुओं से उपस्थित होने की अपील की।

राजेश्वरी मंदिर से निकली कलश यात्रा, बांकडे हनुमान मंदिर पर शुरू हुई भागवत कथा
कुशवाह परिवार द्वारा बांकड़े हनुमान मंदिर पर आयोजित की जा रही श्रीमद् भागवत कथा से पूर्व राजराजेश्वरी मंदिर से एक विशाल कलश यात्रा निकाली गई। जो शहर के विभिन्न मार्गो से होती हुई सड़क रास्ते से बांकडे हनुमान मंदिर पहुंची। कथा का आयोजन श्यामलाल कुशवाह और उनकी धर्मपत्नी बसंती देवी कुशवाह के द्वारा कराया जा रहा है।

हैहयवंशी क्षत्रिय कल्चुरी समाज ने वितरित की ठंडाई
हिंदू नववर्ष गुडी पड़वा के उपलक्ष्य में हैहयवंशी क्षत्रिय कल्चुरी समाज के द्वारा माधव चौक चौराहे पर ठंडाई का वितरण किया गया। सुबह 9 बजे से शुरू हुई ठंडाई वितरण दोपहर तक चला। इस दौरान बड़ी संख्या में शहरवासियों ने ठंडाई का आनंद लिया। यह कार्यक्रम हैहयवंशी क्षत्रिय कल्चुरी शिवहरे समाज के आजीवन संरक्षक डॉ. रामकुमार शिवहरे, जिलाध्यक्ष रविंद्र शिवहरे एवं महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष सीमा शिवहरे के नेतृत्व में आयोजित किया गया। इस दौरान कल्चुरी शिवहरे समाज के पदाधिकारी और समाज के लोग उपस्थित रहे।