पानी की समस्या के लिए सिद्धेश्वर कॉलोनी बासियों को खटखटाना पड़ा न्यायालय का दरवाजा, अब पानी भी मिला और बिल भी माफ - Shivpuri News

शिवपुरी। जिले में भले ही जिला प्रशासन पानी आपूर्ति के तमाम दावे कर रहा है। परंतु शिवपुरी शहर में पानी के लिए अभी भी हाहाकार मचा हुआ है। सिंध का पानी शिवपुरी तो आ गया परंतु यह पानी पूरे शहर में सप्लाई करने में नपा हांफने लगी है। हालात यह है कि शहर में कई कॉलोनी तो ऐसी भी है जहां अभी तक नपा कनेक्शन तक नहीं कर सकी है। कई कॉलोनी ऐसी है जहां कनेक्शन तो कर दिए परंतु पानी की आपूर्ति नहीं हो पा रही है।

इसी के चलते सिद्धेश्वर कॉलोनी के रहवासियों ने अटल अमृत योजना के तहत मड़ीखेडा जलावर्धन योजना की पाइपलाइन से नल कनेक्शन लिए थे, लेकिन नल कनेक्शन लेने के आठ माह बाद तक कॉलोनी वालों को पेयजल मुहैया नहीं हो पाया। कॉलोनी वालों ने अंततः लोकोपयोगी अदालत की शरण लेते हुए नपा के खिलाफ न्यायालय में मामला दर्ज करवाया। इसके बाद कॉलोनी वालों को नगर पालिका ने पानी मुहैया करवाया है। न्यायालय के फैसले में उस अवधि का बिल भी माफ करने के आदेश दिए गए हैं, जिस अवधि में नपा ने कॉलोनी वालों को पानी की सप्लाई नहीं दी थी।

जानकारी के अनुसार जुलाई 2021 में सिद्धेश्वर कॉलोनी क रहवासियों ने नगर पालिका को 2700 रुपये का भुगतान कर नल कनेक्शन लिए थे। नगर पालिका ने नल कनेक्शन देने के बाद जल्द ही पानी की सप्लाई शुरू करने की बात कही थी। इसके एवज में 100 रुपये मासिक भुगतान की बात भी कॉलोनी वालों को बताई गई। नपा ने नल कनेक्शन तो कर दिए लेकिन आठ माह तक पानी की सप्लाई नहीं की।

पानी के लिए कालोनी वाले नगर पालिका सीएमओ सहित जनसुनवाई मे कई आवेदन दिए लेकिन कहीं कोई सुनवाई नहीं की गई। जब प्रशासनिक स्तर पर मामले की कोई सुनवाई नहीं की गई तो लोगों ने ने जनसमस्याओं को लेकर काम कर रहे अधिवक्ता अभय जैन की सलाह पर लोकोपयोगी अदालत की शरण लेते हुए 9 फरवरी 2022 को न्यायालय में नपा के खिलाफ मामा दर्ज करवाया।

न्यायालय में मामले की सुनवाई के दौरान दोनों पक्षों को सुनने के बाद न्यायालय ने 7 अप्रैल को अपना फैसला सुनाते हुए नगर पालिका को निर्देशित किया कि वह न सिर्फ कॉलोनी वालों को नियमित रूप से पानी की सप्लाई करे बल्कि जिस अवधि में उन्हें पानी की सप्लाई नहीं दी गई है उस अवधि का पानी का बिल सेटल किया जाए।

इस निर्णय के बाद नगर पालिका ने न सिर्फ कॉलोनी में पानी सप्लाई नियमित रूप से शुरू कर दी है। बल्कि उनके बिल भी आवेदन के आधार पर सेटल कर दिए हैं। कॉलोनी वासियों ने उन्हें समस्या से निजात दिलाने के लिए जिला न्यायाधीश विनोद कुमार सहित अतिरिक्त जिला न्यायाधीश अर्चना सिंह को समस्या से निजात दिलाने के लिए धन्यवाद दिया। कॉलोनी वालों के अनुसार उनकी समस्या का निराकरण जहां अधिकारी करवाने में असफल साबित रहे वहां कानूनी लड़ाई के बाद उनकी समस्या का निराकरण हो सका।