भतीजी का कन्यादान कर लौटे चाचा ने गटका जहर, गंभीर - Shivpuri News

शिवपुरी। खबर शहर के लालमाटी क्षेत्र से है जहां अपनी भतीजी की विदा करने के बाद चाचा ने चूहा मारने की दवा खाकर जान देने कि कोशिश की, जिसे भांजी ने देख लिया और इसकी सूचना घर वालों को दी जिसके बाद परिजनों ने उसे जिला अस्पताल मे भर्ती कराया।

जानकारी के अनुसार लालमाटी निवासी प्रमोद आदिवासी पिता सिरनाम आदिवासी उम्र 25 साल की भतीजी जमना की शादी 23 अप्रैल को थी जिसके अगले दिन विदा कराने के बाद दोपहर 12 प्रमोद शराब पी कर और अपने साथ चूहा मारने की पैकेट लेकर आया और उसमे से एक पैकेट खा ली जिसको प्रमोद की भांजी ने देख लिया और इसकी सूचना घर वालो को दी जिसके बाद युवक के परिजनों ने उसे जिला अस्पताल मे भर्ती कराया।

जब युवक के परिजनों से युवक के जहर खाने के विषय मे पूछा गया तो परिजनों ने बताया कि युवक की शादी हो चुकी है और उसके 4 बच्चे हैं। हमें नही पता इसने दवा क्यों खाई। कल इसकी भतीजी की शादी थी जिसमें कन्यादान इसी ने लिया था। ये दोपहर मे शराब के नशे मे आया और अपने साथ चूहा मारने की दो पैकेट लेकर आया। जिसके बाद उनमे से एक पैकेट खा ली।