सत्ता का खेल:छिन गई पिछोर से सीएम राइज रूपी स्कूल की सौगात,पहुंच गया शिवपुरी विधानसभा में- Shivpuri News

शिवपुरी। जिस दल की सत्ता होती हैं वह दूसरी विधानसभा के प्रोजेक्ट को अपनी ओर खीच ले जाता हैं। कुछ ऐसा ही हुआ हैं पिछोर विधानसभा में प्रस्तावित सीएम राइज स्कूल के मामले मे । अब यह स्कूल पिछोर विधानसभा से सरक कर शिवपुरी विधानसभा के लिए प्रस्तावित हो गया। इसका कारण पिछोर की जनता अपने विधायक की निष्क्रियता बता रहे हैं वही पिछोर के भाजपा के नेता इस मामले की शिकायत राज्यसभा सांसद और केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से करने की बात कह रहे हैं।

यह है सीएम राइज स्कूल और विशेषताए

मध्य प्रदेश के हर क्षेत्र में गुणवत्ता युक्त शिक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से राज्य सरकार ने 9200 सीएम राइज स्कूल खोले जाने की योजना बनाई है।अभी प्रदेश के सभी जिलों में प्रथम चरण के अंतर्गत 254 स्कूल प्रस्तावित है। प्रदेश में चार स्तरों जिला, विकासखंड, स्कूल और गांवों के समूह स्तरों पर सीएम राइज स्कूल प्रस्तावित हैं। जिला स्तर पर प्रत्येक जिले में एक (कुल 52) सीएम राइज स्कूल होंगे, जिसमें प्रति स्कूल 2000 से 3000 विद्यार्थी होंगे।

आठ मुख्य विशेषताएँ: अच्छा बुनियादी ढांचा, हर छात्र के लिए परिवहन सुविधा, नर्सरी/केजी कक्षाएं, शत-प्रतिशत शिक्षक और अन्य कर्मचारी, स्मार्ट क्लास और डिजिटल लर्निंग, अच्छी तरह से सुसज्जित प्रयोगशालाएं और समृद्ध पुस्तकालय, व्यावसायिक शिक्षा और और अभिभावकों की सहभागिता

उद्देश्य: बच्चों को ज्ञान, कौशल और नागरिकता के संस्कार देने के साथ ही, भारतीय संस्कृति और संस्कारों की शिक्षा देना।

शिवपुरी जिले में बदरवास, करैरा, खनियाधाना, कोलारस नरवर, पिछोर, पोहरी, शिवपुरी विकास खंडों में सीएम राइज स्कूल खोले जाना प्रस्तावित है हैं विकास खंड शिक्षा अधिकारी सतीश गुप्ता की मानें तो भोपाल शासन द्वारा विद्यालयों की अधिक भूमि छात्र संख्या आदि आदि विभिन्न मांगे गए मानदंडों के तहत दिए गए अंकों के आधार पर एक रैंक निर्धारण की गई हैं।

जिसमें पिछोर के मॉडल स्कूल ने तमाम अहर्ता योग्यताओं के साथ 87 रैंक हासिल की और विकास खंड पिछोर अंतर्गत पिछोर स्थित बाचरौंन चौराहे पर बने शासकीय मॉडल उ मा विद्यालय डाइज कोड 23060900145 लगभग 11 एकड़ उपलब्ध भूमि में सीएम राइज स्कूल स्वीकृत करने का प्रस्ताव भेजा गया था।

इस आधार पर जिसे अक्टूबर 2021 को सीएम राइज स्कूल की प्रस्तावित सूची में शासन द्वारा शामिल किया गया था कुछ दिनों बाद विधानसभा की राजनीतिक खींचतान के चलते यह सीएम राइज स्कूल पिछोर विधानसभा के मॉडल स्कूल से हटाकर शिवपुरी विधानसभा के गणेश खेड़ा पिछोर से लगभग 30 किलोमीटर दूर कर दिया गया उस समय शिक्षा विभाग के सर्वे में गणेश खेड़ा 56 वी रैंक पर आया था।

स्थानीय शिक्षा अधिकारी कहते हैं कि शिक्षा विभाग से मॉडल स्कूल पिछोर का ही प्रस्ताव गया था
मॉडल स्कूल से गणेश खेड़ा करने का प्रस्ताव हमारे यहां से विधिवत आज तक नहीं गया सीएम राइज स्कूल मॉडल स्कूल में इसलिए किया गया क्योंकि मॉडल स्कूल के पास पर्याप्त जमीन है और ऐसे विद्यालय की आवश्यकता भी है हालांकि विधानसभा और विकासखंड पिछोर से सीएम राइस स्कूल जैसी सुविधा हटाने को लेकर पिछोर के लोग खासे नाराज दिखाई दे रहे हैं वहीं कांग्रेस विधायक के पी सिंह इस संबंध में तमाशा देखने की मुद्रा में है

हालांकि पिछोर के लोगों ने सीएम राइस स्कूल को वापस न लाने की निष्क्रियता पर स्थानीय विधायक पर नाराजगी जताई है वैसे कुछ लोगों ने केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से भी शिवपुरी विधानसभा के गांव गणेश खेड़ा से वापस पिछोर में यह सुविधा उपलब्ध कराने की मांग करते हुए आवेदन दिया है लोगों का कहना है कि विद्यालयों में देश में स्वच्छता मैं टॉप रैंक हासिल करने वाला पिछोर का मॉडल स्कूल सीएम राइज स्कूल के लिए योग्य क्यों नहीं समझा गया जबकि यहां के शिक्षकों को राष्ट्रपति द्वारा स्वच्छता के संबंध में पुरस्कृत किया गया है।

कुल मिलाकर प्रदेश में भाजपा की सत्ता हैं और पिछोर में कांग्रेस के विधायक हैं। चूंकि शिवपुरी विधानसभा से विधायक यशोधरा राजे सिंधिया हैं और वह प्रदेश में ताकतवर मंत्री के रूप में पहचानी जाती है। राजनीतिक पंडितो का कहना हैं यह सब सत्ता की ताकत का कमाल है कि पिछोर विधानसभा में प्रस्तावित सीएम राइज स्कूल शिवपुरी विधानसभा के गणेश खेडा में प्रस्तावित हो गया।

इनका कहना हैं
शिक्षा के क्षेत्र में सीएम राइज स्कूल पिछोर से दूर गणेश खेड़ा किए जाने पर पिछोर ठगा सा महसूस कर रहा है यह शासन के नियम के विरुद्ध है शिक्षा के क्षेत्र में पिछोर पिछड़ रहा है सुविधा देने की वजह खींच रहे हैं
नीरज पाराशर स्थानीय

शासन ने बाकायदा रैंक और सुविधाओं के आधार पर पिछोर मॉडल स्कूल को सीएम राइस के लिए चयनित किया था अब राजनीतिक रूप से खींचतान कर बिना किसी नियम के गणेश खेड़ा किया जाना गलत है हम इस कार्य का विरोध करेंगे जरूरत पड़ी तो न्यायालय की शरण लेंगे कृष्णम द्विवेदी स्थानीय भाजपा नेता

इस संबंध में केंद्रीय मंत्री ज्योतिराज सिंधिया जी से गुहार लगाएंगे जरूरत पड़ी तो धरना प्रदर्शन करेंगे पर सीएम राइस स्कूल नहीं जाने देंगे
संजीव राजोरिया