PHE के कर्मचारी ने गटका जहर, बोला पत्नी चली गई तो परेशान था, ससुराल वाले आधी सैलरी मांगते है - Shivpuri News

शिवपुरी। खबर शहर के सिटी कोतवाली क्षेत्र के जिला चिकित्सालय से आ रही है। जहां आज सिंचाई विभाग में पदस्थ एक भृत्य ने अपने ही घर में चूहे मारने की दवा का सेवन कर लिया। जिससे कर्मचारी की हालात विगडने लगी। तत्काल परिजन उसे लेकर जिला चिकित्सालय आए। जहां युवक का उपचार जारी है। युवक के भाई का आरोप है कि युवक की पत्नी मायके चली गई और वापस आने से इंकार कर दिया इसी के चलते युवक ने जहरीले पदार्थ का सेबन कर लिया।

जानकारी के अनुसार धर्मेन्द्र कुशवाह की शादी 10 साल पहले नौहरी बछौरा निवासी तुलसी कुशवाह से हुई थी। शादी के बाद उसके यहां दो बेटियां हुई और पूरा परिवार खुशी खुशी रह रहा था। धर्मेन्द्र कुशवाह ने बताया है कि पत्नी को जब भी मायके जाना होता था उसे लेने उसके परिजन गाड़ी भेज कर ले जाते थे और छोड़ भी जाते थे। चार दिन पहले पत्नी ने मायके जाने की इच्छा जाहिर की और हर बार की तरह इस बार भी अपने मायके वालों के साथ चली गई। प

परंतु वापस नहीं आई फोन लगा कर भी उसे कई बार वापस आने को कहा इसके बाद भी वापस नहीं आई। जब आज उसके द्वारा पत्नी से वापस आने को कहा तो पत्नी ने कह दिया कि वह हमेशा के लिए चली गई है अब वापस नहीं आएगी।

सास-ससुर चाहते हैं आधी तनख्वाह, पत्नी को भड़काया

धर्मेंद्र ने बताया कि वह सिंचाई विभाग में भृत्य के पद पर पदस्थ है। उसे सरकार द्वारा इतनी वेतन मिल जाती है कि वह अपने बीवी बच्चों को खुश रख सकता है। इसके साथ ही उसे सरकारी क्वाटर भी अलाट है फिर भी उसकी पत्नी उसकी दोनों बेटियों को लेकर मायके चली गई। बुलाना चाहा तो वह वापस आने को तैयार नहीं है जब इसका कारण जानना चाहा तो पता चला कि उसके सास-ससुर उसको मिलने वाली शासकीय वेतन में से आधी वेतन की मांग कर रहे हैं।

सास ससुर के द्वारा बेटी से कहलवाया गया है कि अगर वह मिलने वाली शासकीय वेतन में से आधा हिस्सा सास ससुर को नहीं देगा तो उसकी पत्नी और बेटियां कभी वापस नहीं आएंगी। उसकी पत्नी उसके माता-पिता की बातों में आ गई और अब वह घर नहीं आना चाहती है। इस मामले की सूचना पर पुलिस जिला चिकित्सालय पहुंची और मामले की जांच में जुट गई है।