दोस्त ने 50 हजार रुपये के लालच में की थी हत्या, 36 घंटे में पुलिस ने किया खुलासा- karera News

करैरा। खबर करैरा थाना क्षेत्र के ग्राम सिरसोना से आ रही है। यहां 13 अप्रैल को एक व्यक्ति की लाश मिली थी। जिसके सर पर गहरी चोट एवं शरीर पर भी मारपीट के निशान दिख रहे थे। करैरा पुलिस एवं मृतक के पिता ने प्रथम दृष्टया ही हत्या की आशंका बताई थी। मृतक के पिता उसके मित्र पर हत्या करने की संभावना व्यक्त की थी।

जानकारी के अनुसार मृतक सुरेश बढ़ई उम्र 35 साल निवासी ग्राम टोड़ा (पिछोर) का रहने वाला था। उसका शव 13 अप्रेल को खून से लथपथ हाल में ग्राम सिरसोना के खेत में मिला था। मृतक के पिता मायाशिव ने पुलिस को बताया था कि कल शाम को में 50 हजार रुपये में अपनी सरसों बेचकर घर वापस आया था।

तभी मेरा बेटा सुरेश व उसका दोस्त गुड्डा लोधी शराब की बोतल लेकर घर आ गए। और उनके साथ शराब पीने की जिद करने लगे तो मैने भी उनके साथ शराब पी, नशा अधिक होने पर में सो गया तो गुड्डा उर्फ रामजीलाल लोधी ने मेरी जेब मे रखे 50 हजार रुपये निकाल लिए और घर से चले गए। सुबह ग्राम सिरसोना के पास बेटे की लाश मिली की सूचना चौकीदार से मिली। पिता ने अपने बेटे की हत्या का आरोप उसके दोस्त गुड्डा उर्फ रामजीलाल पर लगाया था।

करैरा पुलिस ने पिता की शंका के आधार पर गांव में पूछताछ की तो पुलिस की आशंका गुड्डू पर पुख्ता हो गयी। उक्त मामले में गठित की गई पुलिस टीम ने मुखबिर की सूचना पर आरोपी गुड्डा उर्फ रामजीलाल को महज 36 घंटे में गिरफ्तार कर पूछताछ की तो आरोपी ने अपने दोस्त सुरेश बढई की हत्या 50 हजार रुपये के लालच में आकर करना स्वीकार किया। उसने बताया कि पहले तो खेत मे उन दोनों ने शराब पी जब मृतक को ज्यादा नशा हो गया तो लाठी से पीट-पीट कर उसकी हत्या कर दी।

उक्त मामले में थाना प्रभारी सतीश चौहान सहित उनि. दीपक शर्मा, उनि. कुलदीप सिंह, सउनि. जितेंद्र जाट, सउनि. हरिसिंह कुशवाह, सउनि. कमल सिंह बंजारा आरक्षक सोनू पांडये, गजेंद्र शर्मा, लोकेंद्र सिंह, देवेश तोमर, संतोष पाठक की सराहनीय भूमिका रही।