रेडिएन्ट व दून पब्लिक स्कूल ने आदिवासी बच्चों के साथ मनाई होली, बच्चों ने की खूब मस्ती - Shivpuri News

शिवपुरी।
रंग जीवन की खुशहाली का प्रतीक होते हैं और होली का त्योहार हमारे जीवन में अनेक रंग भर कर आनंदमयी बनाने की प्रेरणा देता है। उक्त उद्गार दून पब्लिक स्कूल शिवपुरी की डायरेक्टर डॉक्टर खुशी खान ने ग्राम बांसखेड़ी आदिवासी बस्ती में बच्चों के साथ होली उत्सव के दौरान व्यक्त किए। डायरेक्टर शाहिद खान ने बच्चों को हर्बल कलर प्रदान करते हुए रंगों के नाम याद कराएं व नियमित स्कूल जाने एवं साफ.सफाई व अच्छे स्वास्थ्य के सन्देश के साथ होली की शुभकामनाएं दीं।

उल्लेखनीय है कि प्रतिवर्ष दून पब्लिक स्कूल व रेडिऐन्ट ग्रुप द्वारा बांसखेड़ी में होली का त्योहार बच्चों के साथ मनाया जाता है वहीं बच्चों को फेसमास्क, कलर, पिचकारी, मिठाइयॉ बांटी जाती हैं।

पिचकारी पाकर खिल उठे बच्चों के चेहरे

जैसे ही दून पब्लिक स्कूल व रेडिएन्ट ग्रुप के स्टाफ व छात्र.छात्राएं गांव पहुंचे तो आदिवासी बच्चों ने नमस्ते करके अपनी शालीनता का परिचय देते हुए स्वागत किया जिससे सारा स्टाफ अभिभूत हो गया। रेडिएंट व दून स्कूल के डायरेक्टर साजिद खान, डॉक्टर खुशी खान, अखलाक खान व स्टाफ मेंबर्स ने ग्रामीण बच्चों को फेस मास्क, कलर, पिचकारी, मिठाइयां बांटी तो बच्चों के चेहरे खिल उठे।

पर्यावरण बचाने का दिया संदेश

पानी कम खर्च करने के साथ ही पौधा रोपण करने व केमिकल युक्त कलर के उपयोग न करने का संदेश मुख्य अतिथि स्थानीय समाजसेवी सरदार हरभजन सिंह व बंधुआ मुक्ति मोर्चा के संयोजक गफ्फार खान ने दिया। आदिवासी बच्चों ने टेसू के फूलों से कलर बनाने की बात कहकर हम पढे.लिखे लोगों को हर्बल कलर प्रयोग की नसीहत दे दी। सभी ने बच्चों की नैसर्गिक प्रतिभा की तारीफ करते हुए शुभकामनाएं दीं।

त्योहारों से मिलती है नई ऊर्जा

रेडिएन्ट के कोऑर्डिनेटर अखलाक खान ने कहा भारतीय त्योहार हमें उमंग और उत्साह से भर देते हैं और होली का त्योहार तो अमीर.गरीब सभी वर्गों द्वारा मनाया जाता है। त्योहार हमें नई ऊर्जा देते हैं।