टीकाकरण से लेकर अनमोल पर एंट्री तक में लापरवाही, तीन आशा सुपरवाइजर व एक कार्यकर्ता पर कार्रवाई - Shivpuri News

शिवपुरी। स्वास्थ्य संस्थाओं और स्वास्थ्य कार्यक्रमों का जायजा लेने औचक निरीक्षण पर निकले मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.पवन जैन ने काम में लापरवाही बरतने वाले स्वास्थ्य कर्मियों के विरूद्ध कडा रूख अख्तियार करते हुए तीन आशा सुपरवाईजर तथा एक आशा कार्यकर्ता के विरूद्ध मानदेय काटने व अंतिम चेतावनी देने की कार्यवाही की है।

गत दिवस कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं और कार्यक्रमों की समीक्षा करते हुए काम में लापरवाही बरतने वाले कर्मचारियों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिए थे। जिसके बाद मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.पवन जैन तथा जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ.संजय ऋषिश्वर स्वास्थ्य संस्थाओं के औचक निरीक्षण के लिए निकले। जिसमें संस्थाओं का निरीक्षण कर कर्मचारियों से कमियां जानी और उनके समाधान सुझाए तथा काम के प्रति लापरवाही करने वाले कर्मचारियों को सख्त चेतावनी भी दी।

जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ.संजय ऋषीश्वर ने बताया कि सतनवाड़ा विकासखण्ड में राजा की मुढैरी उप स्वास्थ्य केन्द्र में कार्यरत आशा सुपरवाईजर श्रीमती अंजू यादव 04 फरवरी को टीकाकरण सत्र के दौरान अनुपस्थित पाई गई इसलिए उनका 07 दिन का मानदेय काटते हुए अंतिम चेतावनी पत्र जारी किया गया है।

इसी क्षेत्र की आशा कार्यकर्ता सरोज नामदेव के अनुपस्थित रहने, कोविड पेशेंट की डयू लिस्ट न होने तथा कार्य पर निर्धारित ड्रेस में न आने पर अंतिम चेतावनी दी गई। डॉ.संजय ऋषीश्वर ने बताया कि इसी प्रकार बदरवास विकासखंड के उप स्वास्थ्य केन्द्र मथना, कुटवारा तथा अटलपुर, सुमैला क्षेत्र में कार्यरत श्रीमती क्षमा रजक और बाई जाटव के द्वारा एएनएम को प्रसूताओं के दस्तावेज न पहुंचने के कारण अनमोल पोर्टल की एंट्री में आए व्यवधान के कारण 03 दिन का मानदेय काटते हुए अंतिम चेतावनी पत्र जारी किया गया।

जो काम है वह करना ही होगा सीएमएचओ

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.पवन जैन ने स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को स्पष्ट चेतावनी देते हुए कहा कि काम में लापरवाही वाले अब बख्शे नहीं जाऐंगे। जिस कर्मचारी का जो काम है अथवा जिस कर्मचारी को जो कार्य दिया गया है वह समय पर पूर्ण करे अथवा कार्यवाही के लिए तैयार रहे। अनमोल पोर्टल, आरसीएच पोर्टल, रिपोर्टिंग कार्य को कर्मचारी पहली वरीयता देकर पूर्ण करें।