घर से शौच करने की कहकर निकला प्रमोद इंदौर की एक फैक्ट्री में पुलिस को काम करता हुए मिला - Pohri News

NEWS ROOM
शिवपुरी।
खबर जिले के पोहरी अनुविभाग के थाना गोवर्धन क्षेत्र अंतर्गत आने वाले ग्राम गाजीगढ से आ रही है कि गांव में रहने वाला एक 16 वर्षीय नाबालिग फ्रेश होने की कहकर घर से गया था जो वापस घर नहीं लौटा। परिजनों ने नाबालिग के अपहरण की आशंका बताते हुए पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने उक्त मामले में अपहरण का मामला दर्ज करते हुए नाबालिग की तलाश शुरू कर दी। बताया जाता है नाबालिग इंदौर की एक फैक्ट्री में काम कर रहा था पुलिस ने गायब हुए नाबालिग को परिजनों को सौंप दिया।

जानकारी के अनुसार बीते 10 जनवरी को रमेश पुत्र नक्टूराम धाकड निवासी ग्राम गाजीगढ थाना गोवर्धन जिला शिवपुरी ने थाना गोवर्धन पर रिपोर्ट किया कि मेरा लडका प्रमोद धाकड़ उम्र 16 साल सरवन तालाब किनारे फ्रेश होने की कहकर गया था जो वापस घर नहीं आया फरियादी की रिपोर्ट पर युवक के नाबालिग होने के चलते माननीय सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन के अनुसार युवक के अपहरण का मामला दर्ज कर विवेचना में ले लिया था।

इस मामले में परिजनों द्वारा अपह्ररण की आशंका जताई जा रही थी जिसके चलते इस मामले को पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल ने गंभीरता से लेते हुए तत्काल मासूम को दस्तयाव करने के निर्देश दिये।

जिस पर से एसडीओपी पोहरी निरंजन सिंह राजपूत के निर्देशन में अपह्रत बालक को दस्तयाब करने के हर संभव प्रयास किये गये । उसके बाद बीते 8 फरवरी को मासूम के पिता के पास फोन आया कि उनका बेटा इंदौर क्षेत्र में है जो कि घर से भाग कर आया है और किसी फैक्ट्री में काम कर रहा है जिस पर से पुलिस ने जिस नंबर से फोन आये उस नंबर की साइबर सेल की मदद से लोकेशन निकलबाई।

जिस पर से साइबर सेल से पता चला कि उक्त लोकेशन इंदौर की है। जिस पर से थाना प्रभारी दिनेश नरबरिया ने टीम बनाकर इंदौर भेजा जहां पहुंचकर देखा तो लोकेशन बदलने लगी तभी लास्ट लोकेशन इंदौर के लसूड़िया थाना क्षेत्र की एक फैक्ट्री की है।पुलिस टीम को लसूड़िया क्षेत्र के ट्रांसपोर्ट और फैक्ट्रियों में जाकर तलाश करने पर मासूम फैक्ट्री कामाख्या इण्डस्ट्रीज में काम करते हुए मिला।

जब मासूम से पुलिस ने पूछताछ की तो बालक ने बताया कि उसने मोबाईल के लिये घर वालों से पैसे मांगे थे जो नहीं मिले तथा खर्चे के लिए भी पैसे नहीं मिलते थे इसलिए वह नाराज होकर घर से बिना किसी को बताये पैसे कमाने के लिये पहले रतलाम तथा फिर इंदौर आ गया था उसे कोई अपहरण करके नहीं ले गया था, वह अपनी मर्जी से इंदौर आकर काम करने लगा था । उक्त बालक को दस्तयाब कर इंदौर से लाकर उसके घर वालों को सुपुर्द किया

उक्त कार्यवाही में दिनेश सिंह नरवरिया थाना प्रभारी गोवर्धन,अरविन्द सिंह चौहान थाना बैराड, साइबर सेल प्रभारी मुकेश दुबौलिया,जंडेल सिंह, संदीप कुजूर,निरंजन सिंह गुर्जर,वीरेन्द्र सिह , सुरेन्द्र यादव, अजय यादव,जितेन्द्र सिह, लाल सिह,थाना गोवर्धन, देवेन्द्र , दामोदर सायबर सेल शिवपुरी की अहम भूमिका रही। अपहृत की दस्तयाब मे जंडेल सिंह, सुरेंद्र यादव की विशेष भूमिका रही।
G-W2F7VGPV5M