किसान ने फसल को जंगली जानवरों से बचाने लगाया था जाल, फस गया तेंदुआ: पढ़िए फिर क्या हुआ- Pichhore News

NEWS ROOM
पिछोर।
खबर पिछोर अनुविभाग के खनियाधाना क्षेत्र के भोडन गांव के पास मजरा टपरियन से आ रही है कि भोडन गांव में रहने वाला एक किसान ने अपने खेत पर खडी फसल को जंगली जानवरों से बचाने के लिए जाल बिछाया था इस जाल में आधी रात में तेंदुआ फस गया। जब किसान ने जाल में कुछ हलचल देखी तो उसने तेंदुए को जाल में फसा देखा।

जिसकी सूचना ग्रामीणों ने तुरंत मायापुर थाने और वन विभाग की टीम को दी। सूचना मिलते ही मायापुर पुलिस की टीम और खनियाधाना की फॉरेस्ट टीम घटनास्थल पर पहुंची। खूंखार तेंदुए को रेस्क्यू करने के लिए साधन उपलब्ध नहीं होने की वजह से फॉरेस्ट टीम ने जिले से रेस्क्यू टीम बुलाने का निर्णय लिया।

इसकी सूचना अपने वरिष्ठ अधिकारियों को भी सूचना मिलते ही खनियाधाना डिप्टी रेंजर रविशंकर पटेरिया एवं रेंजर अनुराग तिवारी अपने दलबल को लेकर मौके पर पहुंच गए। साथ ही जिले से मीना मिश्रा (डीएफओ) और (एसडीओ) एम.के. सिंह भी मौके पर पहुंच गए।

जिले से दूरी होने की वजह से फॉरेस्ट टीम को घटनास्थल तक पहुंचने में अधिक समय लग गया। इसकी वजह से अंधेरा अधिक हो गया। अंधेरे का फायदा उठाकर तेंदुआ जाल काटकर भागने में सफल हुआ। जिस वजह से फॉरेस्ट टीम को खाली हाथ लौटना पड़ा। फिलहाल, अधिकारियों के निर्देश पर पुलिस और फॉरेस्ट की टीम जंगलों में सर्चिंग कर जंगलों में तेंदुए को तलाश करने में जुटी हुई है।

घायल है तेंदुआ, कर सकता है हमला

प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो तेंदुआ घायल हो चुका था। घायल तेंदुआ और खूंखार हो जाता है। यही वजह है कि अब घायल तेंदुए को रेस्क्यू करना आवश्यक हो गया है। वह किसी भी इंसान या पालतू जानवर पर हमला कर सकता है।

वन विभाग के SDO, एम.के. सिंह का कहना है कि सूचना के बाद वन अमला दलबल के साथ अमला तेंदुए का रेस्क्यू करने पहुंचा था। परन्तु तेंदुआ जाल को काटकर भाग निकलने में सफल रहा। तेंदुए की तलाश की जा रही है। 
G-W2F7VGPV5M