करैरा एसडीओपी के घरेलू कर्मचारी को थाने बुलाया, जहर गटक लिया, गंभीर- karera News

करैरा। खबर जिले के करैरा थाना क्षेत्र के एसडीओपी के घर से आ रही है। जहां एसडीओपी के घर पर काम करने बाले एक युवक ने आज करैरा थाने में ही जहरीले पदार्थ का सेवन कर लिया। जिससे युवक की हालात बिगडने लगी। तत्काल परिजन उसे लेकर करैरा स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचे। जहां युवक की गंभीर हालात को देखते हुए चिकित्सकों ने उसे जिला चिकित्सालय रैफर कर दिया है। जहां युवक मरणासन्न हालात में है।

शिवपुरी समाचार को जानकारी देते हुए टीला रोड निवासी गिरीश पुत्र मोहन सिंह कुशवाह की मां ने बताया कि सात वर्ष की उम्र से गिरीश एसडीओपी ऑफिस में साफ-सफाई का काम करता है। इसके अलावा उसकी मकान में ही एक दुकान है। गिरीश ने कुछ दिन पूर्व एक जेसीबी गजेन्द्र सिंह से खरीदी थी, लेकिन वह वाहन उसके नाम नही हुआ था। इसके बदले में बेटे ने काली व मंगल कुशवाह के सामने गजेन्द्र को 4.80 रुपये दिए थे।

इसके बाद 1.20 लाख रुपये बच रहे थे। रुपये देने के बाद भी एक दिन अनमोल आया और जेसीबी वापस मांगने लगा। जब गिरीश ने कहा कि उसने जेसीबी खरीद ली है तो अनमोल गाली गलौच करने लगा। उसने कहा कि तूने रुपये नहीं दिए हैं। यह मशीन को दूसरे काे बेची है और गिरीश पर जबरन मशीन लाने का आरोप भी लगाया। इसके बाद अनमोल ने जेसीबी चोरी करने का आवेदन पुलिस थाने में दे दिया जिस पर से पुलिस आए दिन गिशीश परेशान कर रही थी।

गिरीश की मां ने बताया कि थाने से एक दिन पहले ही कोई जाट पुलिसवाला आया था। पता नहीं वो एसआइ था या आरक्षक, लेकिन पुलिसवाला था। उसने बेटे को धमकी दी थी कि तुझे बंद करा दूंगा। गिरीश की मां ने बताया कि पुलिस ने गिरीश को पीटा भी था। वह कहता था कि वहां रुपये के लिए वो लोग परेशान करते हैं और यहां पुलिस भी मुझे ही मार रही है। इसी से दुखी होकर उसने जहर खाया है। बताया गया है कि उक्त युवक एसडीओपी के घर में साफ सफाई का काम करता है।

इनका कहना है
थाने में जहर खाने की कोई घटना नही हुई है। वह थाने आया था, लेकिन बाहर जाकर उसने कुछ खा लिया। उसके खिलाफ जेसीबी चोरी करने का एक आवेदन आया था, उसमें पूछताछ के लिए उसे बुलाया था।
अमित सिंह भदौरिया, टीआई, करैरा