अभी भी सपना बनकर रह गए है प्रधानमंत्री आवास: 619 में 188 हितग्राही हुए बाहर - Shivpuri News

NEWS ROOM
शिवपुरी।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा भारत के प्रत्येक परिवार को अपना स्वयं का आवास देने का सपना अभी कुछ समय और पूरा नहीं होने वाला क्योंकि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मेडीकल कॉलेज के पीछे बनाई जा रही कॉलोनी में एक ओर तो अभी नलों, बिजली एवं सड़क जैसी मूलभूत सुविधाओं का विकास भी नहीं हो सका हैं वहीं दूसरी ओर हितग्राहियों को मकान हेतु कर्जा देने से भी बैंकों ने मना कर दिया हैं।

जानकारी के अनुसार नगर पालिका शिवपुरी द्वारा 1030 प्रधानमंत्री आवास बनाए जाने हैं जिनमें से 619 का निर्माण पूर्णता की ओर हैं इन आवासों का हितग्राहियों को नम्बर भी आवंटित कर दिए गए हैं। परन्तु अब समस्या हैं कि 619 में से 30 के तो नगर पालिका ने नियम में न आने वाले हितग्राहियों के आवेदन निरस्त कर दिए थे, जबकि 25 लोगों ने अपनी 20 हजार रूपए की जमा राशि नगर पालिका से वापस कर ली हैं।

जब नगर पालिका द्वारा सभी 619 हितग्राहियों की सूची आवास ऋण के तहत बैंकों को भेजी तो उसमें से 138 लोगों के प्रपोजल तो बैंक ने सिविल रिपोर्ट खराब होने का हवाला देकर रिजेक्ट कर दिए। जबकि 82 लोगों को पंजाब नेशनल बैंक ने जनवरी में ही राशि आवंटित कर नगर पालिका के खाते में भेज दी हैं। लेकिन शेष बचे हितग्राहियों को आखिर कब तक आवास मिलेंगे जबकि जिन लोगों ने पैसा जमा कर दिया हैं उन्हें भी आज तक अपने आवास की चाबी नहीं सौंपी गई हैं।

619 आवासों का निर्माण हैं जारी
82 हितग्राहियों का बैंक ऋण हुआ स्वीकृत
138 हितग्राहियों के आवास ऋण हुए अस्वीकृत
40 लोगों ने किया नपा को एक मुस्त भुगतान
25 हितग्राहियों ने लिए अपने आवेदन वापस
30 हितग्राहियों के आवेदन नपा से हुए निरस्त

31 मार्च तक कैसे होगा हितग्राहियों का गृह प्रवेश

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत नगर पालिका सीमा क्षेत्र में निवासरत ऐसे हितग्राही जिनके पास अपना स्वयं का आवास नहीं हैं उन्हें उचित दरों पर नगर पालिका आवास बनाकर उपलब्ध कराने जा रही हैं, जिसके लिए 31 मार्च 2022 की समय सीमा निर्धारित की गई थी लेकिन ऐसे में बनाए गए आवासों में अभी तक न तो पानी सप्लाई की व्यवस्था चालू हो सकी हैं और न ही अभी तक विद्युत सब स्टेशन का कार्य पूर्र्ण हो सका हैं तो आखिर नगर पालिका 31 मार्च से पहले कैसे हितग्राहियों को गृह प्रवेश करा पाएगी।

किस्तें चालू, लेकिन नहीं मिले भवन

प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राहियों को इन दिनों डबल पैसों की मार झेलना पड़ रही हैं क्योंकि एक तरफ तो उन्होंने नगर पालिका के आवास हेतु बैंक से लोन जनवरी माह में ही स्वीकृत करा लिया हैं। जिसकी उनको समय पर किस्त चुकाना पड़ रही हैं वहीं हाल ही में वह जहां रह रहे हैं उन मकानों का किराया भी उन्हें चुकाना पड़ रहा हैं। इससे साफ जाहिर होता हैं कि गरीब हितग्राहियों को शासन के कारण डबल पैसों की मार झेलना पड़ रही हैं, जबकि उन्हें अभी संभावना भी नहीं हैं कि यह मकान कब तक उन्हें मिल पायेंगे।

इनका कहना
प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बनाए गए भवनों का हमने क्रमांक आवंटन कर दिया था लेकिन कुछ समय पानी एवं बिजली की आपूर्ति सुचारू होने में समय लग रहा हैं जब यह काम पूर्ण हो जाएगा तभी हितग्राहियों को आवास की चाबी दी जाएगी।
सचिन चौहान
प्रधानमंत्री आवास प्रभारी नपा शिवपुरी
G-W2F7VGPV5M