मंदिर में चढ़ाई गई शराब के कारण संतोष की थी मारपीट, कोविड नही सिर में लठ्ठ पड़ने से हुई मौत: 3 पर हत्या का मामला दर्ज- Shivpuri News

Bhopal Samachar
शिवपुरी‎ ग्वालियर-शिवपुरी फोरलेन हाइवे पर‎ नेशनल पार्क हिस्से में स्थित खूबत‎ बाबा मंदिर पर प्रसाद के रूप में चढ़ने‎ वाली दारू नहीं देने पर पूजा करने‎ वाले युवक की कुछ लोगों ने बेरहमी‎ से मारपीट कर दी थी। इलाज के‎ दौरान घायल की सैंपल रिपोर्ट कोरोना‎ पॉजिटिव आई थी। उसके बाद‎ ग्वालियर में इलाज के दौरान मौत हो‎ गई। पीएम रिपोर्ट में मौत कोविड-19‎ की बजाय हमले में होना पाया गया।‎ इसी के चलते सतनवाड़ा थाना पुलिस‎ ने तीन लोगों के खिलाफ हत्या का‎ केस दर्ज कर लिया है।‎

जानकारी के मुताबिक संतोष‎ उम्र 30 साल पुत्र हेतराम शिवहरे निवासी‎ कमलागंज शिवपुरी खूबत बाबा मंदिर‎ पर पूजा करता था। संतोष 23 जनवरी‎ की दोपहर 12:30 बजे वह अपने‎ साथी धर्मेंद्र यादव एक अन्य साथी के‎ साथ मंदिर पहुंचा। यहां पहले से रजक‎ समाज का गोठ प्रोग्राम चल रहा था।‎ शाम 5:30 बजे रजक समाज के‎ लोगों ने मंदिर पर प्रसाद के रूप में‎ चढ़ने वाली शराब मांगी, लेकिन‎ संतोष ने देने से मना कर दिया।

रजक‎ समाज के करीब 20 लोगों ने संतोष‎ की बेरहमी से मारपीट कर दी। रात में‎ संतोष को घर लाया गया और 24‎ जनवरी को तकलीफ हुई तो परिजन‎ जिला अस्पताल लेकर पहुंचे। परिजनों‎ ने सतनवाड़ा थाने पर सूचना दी तो ‎ ‎साधारण मारपीट का केस दर्ज कर‎ लिया। संतोष शिवहरे का 25 जनवरी‎ को सैंपल टेस्ट लिया और 26 को ‎ ‎ पॉजिटिव रिपोर्ट आई। 28 को हालत ‎ ‎ ज्यादा बिगड़ी तो ग्वालियर रेफर कर‎ दिया।

ग्वालियर में 30 जनवरी को‎ इलाज के दौरान संतोष शिवहरे की‎ मौत हो गई है। संतोष की हत्या को‎ लेकर बहन ने हेमा शिवहरे ने पुलिस ‎अधीक्षक शिवपुरी से शिकायत की है। ‎पुलिस द्वारा संबंधित हत्यारोपियों को गिरफ्तार नहीं करने की बात कही है।‎ बहन का कहना था कि रजक परिवार‎ के लोग मंदिर पर कब्जा जमाने के‎ लिए आए दिन झगड़े रहते थे।‎

तीन लोगों के‎ खिलाफ हत्या का‎ मुकदमा दर्ज‎

सतनवाड़ा थाना पुलिस ने‎ ग्वालियर से पीएम रिपोर्ट के‎ आधार पर खेमचंद रजक, नैनी‎ रजक, मुन्ना रजक के खिलाफ‎ हत्या की धारा में मुकदमा दर्ज‎ कर लिया है। उक्त लोगों ने‎ संतोष शिवहरे की बेहरमी से‎ मारपीट कर दी थी। पीएम रिपोर्ट‎ में संतोष की मौत कोविड की‎ बजाय डंडे से हुए हमले में गंभीर‎ चोट लगने से होना पाया गया है।‎ बता दें कि मौत होने के बाद‎ परिजन पहले से ही हत्या का‎ आरोप लगा रहे थे।‎
G-W2F7VGPV5M