समाजसेवी रामशरण अग्रवाल को मातृशोक, शतायु के बाद अवसान- Shivpuri City News

शिवपुरी। शहर के वरिष्ठ समाजसेवी और व्यावसाई रामशरण अग्रवाल की पूज्यमाताजी श्रीमती सिन्नी बाई पत्नि स्व.श्री हजारी लाल अग्रवाल (करैरा वाले) अपनी शतायु (100 वर्ष आयु) पूर्ण कर इस संसार को त्यागकर देवलोक को चली गई है। स्व.श्रीमती सिन्नी बाई के आर्शीवाद का प्रतिफल है कि आज उनके पुत्र रामशरण अग्रवाल जहां अपने व्यापारिक, सामाजिक क्षेत्र में उत्तरोत्तर प्रगति कर रहे है।

वहीं पुत्र लक्ष्मण अग्रवाल भी साधन संपन्न है अपनै पौत्रगण राजेश, पियूष, राहुल और पुलक अग्रवाल की दादी स्व.श्रीमती सिन्नी बाई ने हमेशा परिवार को अपने आंचल की डोर से बांधे रखा और यह साधन-संपन्न परिवार आज अपने घर की मुखिया के 100 वर्ष पूर्ण होने को लेकर आर्शीवाद ले रहे थे तभी वह रविवार के रोज इस संसार को त्यागकर देवलोग गमन को चली गई।

समाजसेवी रामशरण अग्रवाल के मातृशोक की सूचना मिलने पर शहर के गणमान्य नागरिक, व्यावसाई, समाजसेवी व शहरवासियों ने अपनी शोक संवेदनाऐं व्यक्त की और अंतिम यात्रा में शामिल होकर मृत आत्मा की आत्मशांति हेतु ईश्वर से प्रार्थना की।