श्रीकृष्ण की शरण में रह रहा था कोलारस का मठाधीश, दूसरी FIR में लगभग एक दर्जन नाम- Shivpuri News

शिवपुरी।
कोलारस के मठाधीस ने पूरे मध्यप्रदेश के सहकारिता के सबसे बडे घोटाले को अंजाम देने के बाद से मठाधीस भूमिगत हो गया था। जिसके चलते पुलिस अधीक्षक ने इस मामले में आरोपी की गिरफ्तारी पर 2 हजार का इनाम घोषित किया था। इस आरोपी को हिरासत में लेने का टास्क कोलारस थाना प्रभारी ने एसआई रूपेश शर्मा को सौंपा।

जिसके चलते कोलारस टीआई आलोक भदौरिया और रूपेश शर्मा ने अपने मुखबिरों को सक्रिय किया। जिसपर जानकारी मिली कि कोलारस का मठाधीश राकेश पाराशर अपने मठ को छोडकर भगवान श्रीकृष्ण के धाम वृद्धावन में एक फ्लैट किराए से लेकर रह रहा था। जिसके चलते पुलिस ने सबसे पहले मठाधीश को उठाया । उसके बाद उन्होने करैरा से पिंकी यादव को उठाकर कोलारस लेकर आई।

इस मामले में आज पुलिस ने सहकारिता विभाग के मुकेश जैन उपायुक्त की शिकायत पर इस मामले में राकेश पाराशर,पिंकी यादव सहित तत्कालीन बैंक प्रबंधकों सहित लगभग एक दर्जन बैंक कर्मियों को आरोपी बनाया है। इस मामले में पुलिस ने दोनों आरोपीयों को न्यायालय में पेश किया। जहां से पुूलिस ने इन्हें 5 दिन के पुलिस रिमाण्ड पर ले लिया है। पुलिस अब इनसे पूछताछ कर जानकारी हांसिल करेंगी। हांलाकि इस मामले में पुलिस कल प्रेस वार्ता कर मामले की पूरी जानकारी देगी।