ईमानदारी की मिशाल: ATM से 2 हजार निकालने पहुंचे शिक्षक दंपत्ति, निकले 9500, कोतवाली पहुंचकर लौटाए- Shivpuri News

शिवपुरी।
शहर के सिटी कोतवाली क्षेत्र के गुरूद्वारा के सामने स्थित भारतीय स्टेट बैंक के एटीएम से रूपए निकालने गए शिक्षक को एटीएम मशीन ने 9 हजार 500 रूपए निकाल दिए। जबकि उसने मशीन में 2 हजार रूपए निकालने के लिए एंट्री की थी। शिक्षक को मशीन से साढ़े 9 हजार रूपए प्राप्त हुए। लेकिन उनकी पत्नी के मोबाइल पर रूपए निकलने का कोई मैसेज प्राप्त नहीं हुआ और उन्होंने अपने खाते से रूपयों की जानकारी ली तो उनके खाते से कोई रूपए नहीं कटे।

इसलिए वह साढ़े 9 हजार रूपए लेकर कोतवाली पहुंचे। जहां उन्होंने ईमानदारी की मिशाल पेश करते हुए कोतवाली टीआई सुनील खैमरिया को वह रूपए लौटा दिए और कहा कि मशीन में किसी अन्य व्यक्ति के रूपय फस गए होंगे, जो उन्हें प्राप्त हो गए।

जानकारी के अनुसार महल कॉलोनी निवासी सुरेंद्र परिहार अपनी पत्नी आशा परिहार और परिचित शिक्षिका सुनीता भदौरिया के साथ बीते रोज 8 बजे गुरूद्वारा के सामने स्थित एसबीआई के एटीएम पर पहुंचे थे, जहां सुरेंद्र ने अपनी पत्नी आशा परिहार के डेविड कार्ड से एटीएम मशीन से 2 हजार रूपए निकालने के लिए एंट्री की मशीन चालू हुई और 2 हजार रूपए के स्थान पर 9500 रूपए मशीन से निकले।

जिन्हें देखकर वह अचंभित हो गए और जब उन्होंने अपनी पत्नी आशा से मोबाइल पर आए मैसेज चैक किया तो खाते से कोई भी पैसा कटने का मैसेज नहीं मिला। जब उन्होंने बैंक खाते में रूपए संबंधी जानकारी ली तो उस तारीख में कोई भी पैसा उनके खाते से नहीं कटा। जिससे वह समझ गए कि यह पैसा किसी और का है जो मशीन में किसी टैक्नीकल फॉल्ट के कारण फस गया होगा। इसलिए वह अपनी पत्नी को लेकर कोतवाली आए और उन्होंने वह रकम पुलिस के सुपुर्द कर दी।