हनी ट्रैप काण्ड:कपडे उतार कर न्यूड वीडियो बना लिया कर्मचारी का वंदना ने,मांगें 5 लाख

शिवपुरी। युवती के साथ अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने वाले गिरोह ने पोहरी में पदस्थ एक कर्मचारी से 1 लाख 95 हजार रुपए हड़प लिए। इसके बाद भी वह लगातार पैसों की मांग करते रहे। इससे परेशान होकर फरियादी ने कोतवाली में आरोपियों के विरूद्ध मामला दर्ज कराया है। आरोपियों के विरुद्ध भादवि की धारा 389 और 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है। इस मामले में पुलिस ने कर्मचारी को ब्लैकमेल करने वाली युवती वंदना उर्फ गोली उसके भाई देवेंद्र कुशवाह तथा एक अन्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। अन्य आरोपियों की तलाश जारी है।

फरियादी ने पुलिस को लिखित रिपोर्ट में बताया है कि 24 या 25 दिसंबर को उसके मोबाइल नम्बर पर एक लड़की का मोबाइल नम्बर 7869547064 से फोन आया और उस लड़की ने मुझसे मेरा नाम पता पूछा तथा अपना नाम वंदना बताया। पहले मुझे लगा कि उस लड़की का गलत नंबर लगा होगा। लेकिन बाद में लगातार मेरे पास उसके फोन आने लगे और मेरी उससे बातचीत होने लगी। मैंने लड़की से कहा कि मेरी उम्र 50 वर्ष से ऊपर है। लेकिन लड़की ने कहा कि उम्र से कुछ नहीं होता है।

1 या 2 जनवरी को वंदना ने मुझे मिलने के लिए बैराड़ बुलाया लेकिन मैंने यह कहकर मना कर दिया कि मेरे पास वहां रूकने की कोई व्यवस्था नहीं है। 5 जनवरी को फोन पर वंदना ने मुझे कहा कि मुझे तुमसे मिलना है।

फतेहपुर में मेरा कमरा है। इसके बाद बाजार में वंदना मुझे एक अन्य महिला के साथ मिल गई। मैं अपनी स्कूटी से था और हम तीनों उसी स्कूटी से उसके कमरे पर पहुंच गए। फरियादी का कहना है कि वंदना मुझे एक कमरे में ले गई। मैंने कहा कि तुम बहुत छोटी हो। मैं कोई गलत काम नहीं करूंगा।

इसके बाद उसने अपने सारे कपड़े उतार दिए और मेरा पेंट उतार दिया। तत्पश्चात वह मेरे गले से लिपट गई और बीच में मंजू नाम की महिला और एक अन्य लड़का आ गया। जिसको वंदना अपना भाई देवेंद्र कुशवाह बता रही थी। उसने मेरा और वंदना का एक साथ वीडियो बना लिया।

इसके बाद दो अन्य लड़के बंटी और रामवीर भी आ गए। बाद में मुझे पता चला कि वंदना का नाम गोली है और ये सब मिलकर मुझे ब्लैकमेल करने लगे तथा कहने लगे कि तुम्हारा यह वीडियो वायरल कर देंगे तथा घरवालों को भेज देंगे एवं गोली से बलात्कार का केस लगवा देंगे। उन्होंने मुझसे 5 लाख की मांग की।

बाद में ये लोग 1 लाख पर आ गए। जो मैंने अपने भाई से लिए तथा फोन-पे के माध्यम से दो बार 40-40 हजार रुपए ट्रांसफर किए। इन लोगों ने मेरा मोबाइल छीन लिया तथा डरा धमकाकर एक बार 75 हजार और फिर 20 हजार रूपए सुनील गुप्ता और राजेश गुप्ता के खाते में डलवाए।

दिनांक 9 जनवरी को मेरे पास फिर एक फोन मोबाइल नम्बर 9755630733 एवं 7389058542 से बार-बार आया और कहा कि मेरे पास तुम्हारा अश£ील वीडियो है मैं इसे वायरल कर दूंगा तथा मुझसे 50 हजार रूपए मांगे। तो मैंने उसी दिन 20 हजार रुपए फोन पे के माध्यम से ट्रांसफर किए। जिसका खाता कमलेश प्रजापति के नाम से आ रहा था। अभी तक मैं 1 लाख 95 हजार रुपए दे चुका हूं।