मौत को न्यौता दे रहे है खुले पडे सीबर के चैंबर, दो मजदूरों की मौत भूल गया विभाग, स्टॉपर लगाकर भूल गए- Shivpuri News

शिवपुरी। खबर शहर के बीचों बीच से आ रही है। जहां करोडों की लागत से शहर बासियों के लिए सबसे बडी परेशानी का सबब बनी सीवर योजना के फायदें तो पब्लिक को मिलने से दूर रहे बल्कि सालों इस सीबर की खुदाई की परेशानी झैल चुके शहर बासियों के लिए यह सीवर लाईन अभी भी फायदा तो नहीं दे पा रही परंतु अभी भी परेशानी का सबब बनी हुई है। हालात यह है कि शहर में बिछी सीवर लाइन के चैंबर क्षतिग्रस्त हो गए हैं।

मुख्य सड़कों पर चैंबर के ढक्कन टूट रहे हैं। नाले में बने चैंबर पानी के बहाव में टूटकर अलग हो गए हैं। सड़कों पर जिन चैंबर के ढक्कन टूट गए हैं, वहां लोग कांटे व डंडे रख रहे हैं, ताकि लोग हादसे का शिकार होने से बच जाएं। शहर में कई जगह सीवर चैंबर ओवरफ्लो हो रहे हैं जिससे सड़कों पर गंदा पानी फैल रहा है। वहीं जहां सीवर लाइन बिछाई गई है, वहां सड़क भी धंसक रही है।

साल 2013 से शुरू हुआ सीवर प्रोजेक्ट का काम अभी तक पूरा नहीं हो पाया है। चालू होने से पहले ही सीवर चैंबर क्षतिग्रस्त हो रहे हैं। इससे आगे इनके ठीक ढंग से संचालन को लेकर भी सवाल उठ रहे हैं। ढक्कन टूटकर गिरने से सीवर चैंबर खुलने लगे हैं। ऐसे में हादसा भी हाे सकता है।

बता दें कि ठाकुर बाबा पहाड़ी पर खुदाई में पत्थर आ जाने की वजह से सीवर लाइन बिछाने का काम पूरा नहीं हो पा रहा है। जबकि लाइन बिछने के बाद शहर में कनेक्शन भी होना बाकी है। ऐसे में सीवर चैंबर क्षतिग्रस्त होने से लोक सीवर प्रोजेक्ट के ठीक से संचालक को लेकर असमंजस में हैं।

यहां खुले पडे है चैंबर
फतेहपुर में स्कूल के पास सड़क के बीचों बीच चैंबर का ढक्कन क्षतिग्रस्त होने के साथ अंदर तक धसक गया है। यहां गलती से वाहन सवार हादसे का शिकार ना हो जाएं, इसलिए लोगाें ने लकड़ी खड़ी करके कपड़ा टांग दिया है। इसके साथ ही करौंदी संपवेल के पास सड़क के शोल्डर पर सीवर चैंबर का ढक्कन टूटकर अंदर गिर गया है। धोखे से गाड़ियां या पैदल राहगीर हादसे का शिकार ना हो जाए, इसलिए लोगों ने कांटे रख दिए हैं। चैंबर में पशुओं के गिरने का भी खतरा है।

इसके साथ ही अस्पताल चौराहा पर सीवर लाइन चालू नहीं हुई है, लेकिन नाले व नालियों का पानी सीवर लाइन जा रहा है। चौराहे पर सीवर चैंबर कई दिनों से ओवरफ्लो है। जिससे डामरीकृत सड़क में गड्‌ढे हो गए हैं। कोई समाधान नहीं होने की वजह से सड़क और भी खराब हो रही है। इसके साथ ही निर्मल श्री गिफ्ट के सामने न्यू ब्लॉक चौराहे पर सीबर का ढक्कन टूट गया है। जिसमें लोगों ने पत्थर लगाकर इसे बंद करने का प्रयास किया। यहां से लगातार लोग सहित बच्चे निकलते है। परंतु अगर यह हालात रही तो कभी भी कोई हादसा हो सकता है।

इसके साथ ही बाबू क्वार्टर रोड,शांति नगर कॉलोनी में भी चैंबर टूटे पडे है। जिसके चलते यहां से निकलना दूबर हो गया है। इसके साथ ही शहर में कई जगह तो यह हालात है कि चैंबर रोड से उपर बना दिए है। और कही पर रोड से नीचे। जिससे आए दिन वाहनोंं को टकराने का खतरा बना रहता है। ऐसा ही उदाहरण छत्री रोड पर है। जहां एक चैंबर को नीचे बना दिया है जबकि दूसरा उपर बना हुआ है।

कुछ दिनों पहले खुले पडे चैंबर में बांकडे मंदिर के आगे चैंबर में एक गाडी पूरी तरह से घुस गई थी। गनीमत रही कि लोग कांच तोडकर इस कार से बाहर निकल सके। परंतु एक्सीडेट होने के बाद यहां पीएचई विभाग ने इस चैंबर में धक्कन लगवाया। अगर यह धक्कन पहने लगवाया होता तो यह हादसा नहीं होता।

इनका कहना है
ऐसा नहीं है हम पूरा प्रयास कर रहे है कि शहर में खुले पडे चैंबरों को बंद करा दे। हम जहां जहां सूचना मिलती है वहां हम इन्हें सुधरबा रहे है। आप जो भी लोकेशन बता रहे है वह मुझे भेज दे। हम टीम और ठेकेदार को भेजकर इन्हें भी बदलबा देंगें
एलपी सिंह, कार्यपालन यंत्री, पीएचई विभाग शिवपुरी