पंच कल्याणक के पात्रों का हुआ चयन, जिन्होंने नियम लिए उन्हें मिला अवसर- Shivpuri News

शिवपुरी। पुरानी शिवपुरी स्थित 100 साल पुराने जैन मंदिर के पुर्नर्निमाण के बाद अब नई मूर्तियों की प्रतिष्ठा करने के लिए भव्य स्तर पर पंच कल्याणक महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। जिसके लिए जैन समाज में अपूर्व उत्साह देखने को मिल रहा है।

5 दिसंबर से शुरू होने वाले इस महा आयोजन के लिए पात्रों का चयन जैन मुनि अभय सागर, मुनि प्रभात सागर और मुनि निरीह सागर के सानिध्य में रविवार को मानस भवन में किया गया। खास बात यह रही कि प्रतिष्ठाचार्य बाल ब्रह्मचारी प्रदीप सुयश द्वारा उन्हीं पात्रों का चयन किया, जिन्होंने नियम लेकर अपनी उपयोगिता साबित की। धर्मसभा के दौरान कार्यक्रम का गरिमापूर्ण ढंग से संचालन संजीव बांझल द्वारा किया गया।

प्रारंभ में मंगलाचरण खुशबु जैन किलावनी द्वारा किया गया। जिन्होंने विभिन्न नियम संयम के वृत लिए। ऐसे 17 पात्रों में से भगवान के माता-पिता बनने का सौभाग्य नरेश जैन यूटीआई परिवार को मिला। जबकि सौधर्म बनने का गौरव राजकुमार जैन जड़ीबूटी वाले परिवार ने प्राप्त किया।

ध्वजारोहण की भूमिका वीरेंद्र जैन पत्ते वालों के जिम्मे रही। धनपति कुबेर चौधरी ऋषभचंद्र परिवार, महायज्ञ नायक अरिहंत फर्नीचर परिवार, राजा श्रेयांश, प्रमोद जैन एलएलएम, राजा बाहूबली वायके जैन ग्रामीण बैंक, ईशान इंद्र प्रेमचंद्र जैन परिवार, सनतकुमार इंद्र भीकम जैन परिवार, राजा सोम रामस्वरूप महरौली वाले और राजा भरत राकेश कुमार आमोल को मिला।

5 दिन की भोजन व्यवस्था का पुण्य देवेंद्र जैन पत्ते वाले परिवार को
पात्र चयन के अवसर पर जानकारी दी गई कि पंच कल्याणक महोत्सव में पांचों दिन पूरे समाज को भोजन का आमंत्रण दिया गया। इस पर प्रतिष्ठाचार्य प्रदीप भैया ने कहा कि क्या आयोजन में शामिल होने वाले लोग मंदिर के पैसों से भोजन करेंगे तो पंचकल्याणक समिति के अध्यक्ष जितेंद्र जैन गोटू ने खड़े होकर कहा कि यह व्यवस्था पांचों दिन की हमारे परिवार की ओर से रहेगी। यानि पंचकल्याणक व्यवस्था के दौरान भोजन व्यवस्था का दायित्व देवेंद्र कुमार, जितेंद्र कुमार गोटू, धर्मेंद्र कुमार और सचिन कुमार पत्ते वाले परिवार पर रहेगा।