भडौता रोड पर पकड़े गए बदमाशों ने कोलारस मंडी लूट कांड का खुलासा किया - kolaras News

कोलारस। खबर जिले के कोलारस अनुविभाग के कोलारस कृषि उपज मंडी की है। जहां बीते 21 अगस्त को आडतिए के साथ हुई लूट का पुलिस ने पर्दाफास कर दिया है। पुलिस ने इस मामले में तीन आरोपीयों को हिरासत में लेते हुए लूट में प्रयुक्त की गई अपाचे बाईक भी बरामद कर ली है।

जानकारी के अनुसार आज पुलिस को सूचना मिली कि भडौता रोड पर तीन आरोपी लूट की बारदात को अंजाम देने की नियत से बैठे हुए है। जिसपर पुलिस टीम बनाकर मौके पर पहुंची और घेराबंदी की। पुलिस को देखकर आरोपी भागने लगे। जिसपर पुलिस ने घेराबंदी कर आरोपीयों को गिरफ्तार किया। इन आरोपीयों ने पूछताछ के दौरान कोलारस मंडी में हुई लूट की घटना को स्वीकार किया।

विदित हो कि बीते 21 अक्टूबर को फरियादी ने थाना कोलारस पर रिपोर्ट करते हुए बताया था कि वह मण्डी मे मुनीम गिरी का काम करता है, सुबह करीब 11 बजे बारदाना लेने के लिये मण्डी से गोदाम जा रहा था। उसके पास झोला मे करीब तीन लाख रूपये, चैक बुक, लेटर पैड, बिल बुक, कांफी , कैलकुलेटर , एक मण्डी का कट्टा (37-1) रखे थे जैसे ही फरियादी कृषि मण्डी कोलारस के गेट और रोड के बीच मे आया तो एक मो.सा. वाले ने पीछे से जानबूझ के फरियादी मो.सा. मे टक्कर मार दी और मोटर सायकल सबार लोगों ने फरियादी को धमकाकर तथा जबरजस्ती करके झोला छुङा लिया और भाग गये उनके पीछे एक मो.सा. और थी जिस पर दो व्यक्ति बैठे थे उक्त रिपोर्ट पर से थाना कोलारस में धारा 392,34 ताहि. 11/13 एम.पी.डी.पी.के. एक्ट का पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया।

इस मामले में पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल ने मामले की गंभीरता को देखते हुए तत्काल कोलारस पहुंचे और वहां एसडीओपी अमरनाथ वर्मा टीआई आलोक भदौरिया को मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपीयों को गिरफ्तार करने के निर्देश देते हुए आरोपीयों की गिरफ्तारी पर 10 हजार रूपए का इनाम घोषित किया था।

जिसपर से पुलिस ने आज तीन आरोपी गोलू पुत्र अमजद खान उम्र 22 साल निवासी कोलारस हाल निवासी गुना,जुड्डा उर्फ जाहिद पुत्र जलील खान उम्र 25 साल निवासी गुना और साबिर पुत्र जाकिर खान उम्र 21 साल निवासी गुना को गिरफ्तार करते हुए उसके कब्जे से घटना में प्रयुक्त् की गई अपाचे बाईक सहित 1 लाख 5 हजार रूपए नगद भी बरामद कर ली।

बताया जा रहा है कि आरोपी गोलू खान जाट मौहल्ले में ही रहता है। इसी मोहल्ले के निवासी व्यापारी सफी अहमद खान को आरोपी अच्छे से जानता था। उसे पता था कि सफी अहमद खान लाखों रूपए कैश लेकर मंडी जाता है। जिसके चलते आरोपी ने युवक की रैकी की। गनीमत रही कि उक्त व्यापारी उस दिन बैंक गया था परंतु पैसे नही निकले तो वह ज्यादा पैसे नहीं निकालकर ला सका। जिसके चलते उसके पास महज महज 5 लाख रूपए ही थे। जिसे आरोपीयों ने लूट लिया। इस घटनाक्रम के 3 आरोपी अभी भी फरार है। पुलिस इन आरोपीयों की तलाश में जुटी गई है।