जनसुनवाई में महिला ने कलेक्टर को 7 दिन का अल्टीमेटम दिया, FIR नहीं लिखी तो आत्मदाह कर लूंगी- Shivpuri News

शिवपुरी। आज मंगलवार की जनसुनवाई में राजकुमारी शर्मा पत्नि बंटी शर्मा अपने परिवार सहित कलेक्ट्रेट पहुंची, जहां उसने न्याय न मिल पाने के कारण उसने आत्मदाह की धमकी दी। राजकुमारी शर्मा ने बताया कि स्वयं और उसके परिवार ने देहात थाना पुलिस ने झूठा मामला दर्ज किया था और जेल भेज दिया था,जिन्होने हमारे साथ मारपीट की उनके खिलाफ मामला दर्ज नही कर रहे, 2 महिने से देहात थाने के चक्कर काट रही हूं लेकिन मामला दर्ज नही किया जा रहा हैं।

आज मैं अपनी व्यथा बताने एसपी शिवपुरी के पास गई थी लेकिन वहां कोई नही मिला। अगले मंगलवार तक मुझे न्याय नही मिला तो एसपी आफिस में आत्मदाह कर लूगी। पुलिस वाले एफआईआर करने के लिए 10 हजार रूपए की मांग कर रहे है।

यह है पहले का मामला
राजकुुमारी शर्मा ने मप्र के ग्रहमंत्री को एक आवेदन सौपा था इस आवेदन के अनुसार मेरे पति बंटी शर्मा अपनी लोडिंग गाडियो का कारोबार करते है, उक्त वाहन गांधी पेट्रोल पंप के पास से संचालित होता है। 13 सितंबर को मेरे पति का झगडा विपिन सचदेवा, भोलू सचदेवा गोलू राठौर, निवासी महल कॉलोनी शिवपुरी जोनी राठौर व गालू निवासी यादव मोहल्ला खेडापति कॉलोनी शिवपुरी आये और प्रार्थिया व मेरे लड़के सागर शर्मा व मेरे पति बंटी शर्मा गाली गलौच करने लगे एवं कहने लगे कि उक्त गाड़ियों को यहां क्यों लगाते हो तब प्रार्थिया ने कहा कि यहां पर वर्षो से रखते चले आ रहे हैं

जबकि प्रार्थिया ने व लडके एवं पति ने गालियां देने से मना किया तो सभी ने एक राय होकर प्रार्थिया को बुरी नियत से हाथ पकड़ लिया व जब मेरे पति व लड़के ने बीच वचाव किया मेरे पति को व बेटे को बुरी तरह लाठी, डण्डों एवं लात घूसों से बुरी तरह मारपीट की प्रार्थिया के लडके एवं पति की नाक से खून निकला उक्त घटना के समय राजेश मोगिया व मेरा ड्रायवर मनोज ओझा व ज्ञान सिंह आदिवासी निवासी तुलसीनगर आ गये थे जिन्होंने हमें बचाया नहीं तो ये लोग जान से मार देते।

देहात थाना पुलिस ने समस्त परिवार पर मामला दर्ज कर दिया

इस घटना के बाद हम रिर्पोट कराने देहात थाना गए तो थाने मेें तैनात पुलिस कर्मी अजय शर्मा,विनय जाटव इन लोगों ने हमारे साथ मारपीट कर तीनों को बन्द कर दिया और हमारे साथ मारपीट कर द जिससे हमारी कोई एफ.आई.आर. दर्ज नहीं की है इसके बाद आरोपीगण एक राय होकर थाने पर आये और उनकी एफ.आई.आर. दर्ज कर दी गई हैं। हमारे ऊपर धारा 327 व अन्य धाराओं के तहत प्रकरण कायम कर करते हुए हमे जेल भेज दिया।

मैने ग्रहमंत्री से लेकर एसपी और तक गुहर लगाई लेकिन थाना 10 हजार मांग रहा हैं

आज कलेक्ट्रेट में जनसुनवाई में पहुंची राजकुमारी शर्मा अपने पति बंटी शर्मा और अपनी नाबालिग बेटी के साथ पहुंची और पत्रकारो से बातचीत करते हुए कहा कि एसपी साहब ने देहात थाने के टीआई से कहा कि इस मामले में एफआईआर करो,लेकिन पिछले 2 माह से में चक्कर लगा लगा कर थक चुकी है। कुछ कुछ बहाना बना कर मुझे भगा देत है। डरा धमकाकर अलग अलग बयान ले लिए हैं हम कुछ कहते हैं और पुलिस वाले कुछ लिखते हैं। अब 10 हजार रूपए देहात थाने में पदस्थ जोशी पुलिस वाले मांग रहे हैं जब तक पैसा नही जब तक एफआईआर नही।

मंगलवार तक एफआईआर नही तो आत्मदाह करूंगी

राजकुमारी शर्मा ने कहा कि अगर मंगलवार तक मेरे और मेरे परिवार को न्याय नही मिलता है मैं अगले मंगलवार को एसपी आफिस में आत्मदाह कर लूगी,पत्रकारो ने पूछा कि आप एसपी आफिस की जगह कलेक्ट्रेट में क्यो आई हो तो उसने कहा कि हम एसपी साहब के पास गए थे लेकिन वह मिले नही। मुझे बस अब न्याय चाहिए