18वीं जिला जूनियर सव जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप आयोजित-चुनौती के रूप में लें: जिला खेल अधिकारी के.के.खरे - Shivpuri News

शिवपुरी। एथलेटिक्स के क्षेत्र में प्रतिभाओं को आगे लाकर उनके प्रतिभा कौशल को निखारने के लिए जिला खेल अधिकारी के.के.खरे के मुख्यातिथ्य में गत दिवस स्थानीय श्रीमंत माधवराव सिंधिया खेल परिसर में जिला एथलेटिक्स एसोसिएशन शिवपुरी के तत्वाधान में 18वीं जिला जूनियर, सब जूनियर एथलेटिक्स प्रतियोगिता का आयोजन संस्था सचिव संजय शर्मा के निर्देशन में किया गया।

इस दौरान एथलेलिटक्स खिलाडिय़ों का मनोबल बढ़ाते हुए जिला खेल अधिकारी के.के.खरे ने बताया कि वर्तमान समय में खेलों के क्षेत्र की प्रतिभावान खिलाडिय़ों को विभिन्न खेलों में अनेकों अवसर मौजूद है ऐसे में एथलेटिक्स के खेल से जहां शरीर चुस्त-दुरूस्त रहता है तो वहीं इस खेल की बारीकियों को समझने पर खिलाड़ी बड़े-बड़े ओलंपिक में भी जा सकता है इसलिए अपने खेल को चुनौती के रूप में लें और अपने परिश्रम व लगनशीलता से इस क्षेत्र में उत्तरोत्तर प्रगति करें।

इस अवसर पर 18वीं जिला जूनियर, सब जूनियर एथलेटिक्स प्रतियोगिता में बालक,बालिका 14 वर्ष में क्रमश: 60 मी., 600 मी., हाईजम्प, लांग जम्प, शॉटपुट एवं बालक-बालिका 16 वर्ष में क्रमश: 100 मी., 1000 मी., 80 मी. हर्डल, हाईजम्प, लांगजम्प, शॉटपुट, डिसकस, जैवलिन थ्रो आदि इवेंट किए गए।

जिसमें इस दो दिवसीय प्रतियोगिता के विजेताओं की घोषणा करते हुए जिला एथलेटिक्स एसोसिएशन के जिला सचिव संजय शर्मा ने बताया कि इन प्रतियोगिता के प्रतिभागियों में 60 मी. इवेंट में दीपक लोधी प्रथम, साकेत भगत द्वितीय, ध्रुव कुशवाह तृतीय एवं बालिका वर्ग में ऐश्वर्या गुप्ता प्रथम, प्राची नेवार द्वितीय, राधिका सूर्यवंशी तृतीय स्थान पर रहीं, 100 मी. में सूरज कुशवाह प्रथम, राज नामदेव द्वितीय एवं आकाश लोधी तृतीय रहे व महिलाओं में सीजल तोमर प्रथम, नीलम अहिरवार द्वितीय व दीपिका यादव ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।

इस प्रतियोगिता में बालक-बालिका को मैडल एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान कर पुरूस्कृत किया गया साथ ही प्रथम आए खिलाडिय़ों को राष्ट्रीय प्रतियोगिता में अवसर प्रदान करने को अवसर प्राप्त होगा जो कि आगामी दिसम्बर माह में आंध्रप्रदेश के तिरूपति में आयोजित होगी। इन इवेंट्स को सफल बनाने में एथलेटिक्स एसोसिएशन के सचिव संजय शर्मा के साथ सहसचिव पवन शर्मा, कोषाध्यक्ष मृदुल शर्मा आदि ने महत्वपूर्ण योगदान दिया।