सहकारिता घोटाला: रामेश्वर धाम की लूट का खामियाजा भुगत रहे हैं किसान, खाद के लिए कोलारस मे हाहाकार - kolaras News

कोलारस। सहकारिता विभाग मे हुए 104 करोड रुपये के घोटाले का असर अब सीधे तौर पर किसानों को भुगतना पड़ रहा है। जिले के समस्त सहकारिता सोसायटी मे खाद की किल्लत बनी हुई है जिसके कारण किसान परेशान हो रहे है गोदामों के बाहर किसानों की लंबी-लंबी लाइने नजर आ रही हैं दिन भर तेज धूप में इन लंबी लाइनों मे लगने के बाद भी इन्हें खाद मिलेगा या नही इसकी कोई गारंटी नही।

जिले के अंतर्गत आने वाली सभी जनपद स्तर पर स्थित सहकारिता सोसायटी के यही हाल हैं किसान पहले से अतिवृष्टि के कारण हुए नुकसान से आर्थिक और मानसिक रूप से परेशान है अपनी आने वाली फसलों से उम्मीद लगाकर बैठे किसानों के लिए अब खाद का संकट बडी समस्या बन गया है।

अन्य सोसायटी के साथ ही कोलारस में भी खाद की किल्लत बनी हुई हैं यहां किसानो की लंबी-लंबी लाइने लगी हुई हैं, प्रशासन का कहना है कि जिले में खाद की कोई कमी नही हैं हकीकत इससे उलट हैं जिले मे बारिश होने के कारण अब गेंहू और चने की बोबनी होने को है किसानो को यूरिया की आवश्यकता हैं।

कोलारस क्षेत्र के किसानों को बैंक एवं सहकारी संस्थाओं की लापरवाही का दंश झेलना पड़ रहा है किसान कई किलोमीटर दूर चलकर सोसाइटी तक आते हैं वहां तालाबंदी जैसे हालत देखकर मायूस होकर लौट रहे है सोसाइटी पर खाद न मिलने से कोलारस मंडी स्थित मार्फेड गोदाम में खाद लेने वाले किसानों की भारी भीड़ लग गई जिसे पुलिस बल द्वारा लाइन लगाकर वितरित करवाया गया।

बताया जा रहा है कि कोलारस अनुविभाग में 9 सोसाइटी खाद वितरण का कार्य करती थी,लेकिन अब बैंक में घोटाला होन के कारण इस बार सोसाइटीयो को खाद नही मिला। इस कारण कोलारस में स्थित मार्फेट के गोदाम से खाद मिल रहा हैंं। किसान प्रधान देश मे किसान परेशान हैं अन्नदाता को अन्न पैदा करने के लिए यूरिया खाद खरीदने के लिए एक जंग सी लडनी पड रही हैं।

ऐसा नही है कि यह हालात सिर्फ कोलारस में हैं बल्कि पूरे जिले के यही हालात है। आज खाद को लेकर मंत्री राठखेडा के क्षेत्र में किसानों ने जमकर हंगामा किया और चक्काजाम किया।