बंदूक की दम पर काट दिया 100 बीघा जंगल, विधायक ने दखल दिया तब भागे अतिक्रमणकारी - Badarwas News

बदरवास। जंगलो की सुरक्षा और विकास के लिए पूरा एक विभाग हैं जिसे हम वनविभाग कहते हैं,लेकिन वनविभाग ही जंगलो का विनाश करवा रहा हैं। ऐसा ही कुछ ऐसा मामला बदरवास क्षेत्र से आ रही हैं कि बंदूक की दम पर कुछ बदमाशो ने 100 बीघा जंगल की जमीन को खेती योग्य बना दिया और वनविभाग नीद में सोता रहा। अगर कोलारस विधायक इस माममे को नही उठाते तो आज यह बंदूक धारी आराम से वनविभाग की जमीन पर खेती कर रहे होते।

बदरवास क्षेत्र के सोनपुरा, बसाई गांव में मुरैना धौलपुर क्षेत्र के कुछ लोगों ने बंदूक के दम पर 100 बीघा से अधिक क्षेत्र में जंगल काट कर वहां जुताई करवा दी। मामला विधायक ने उठाया तो तब कहीं जाकर जिम्मेदार जागे और गुरुवार को वन विभाग की टीम पुलिस को साथ लेकर मौके पर कार्रवाई करने पहुंची, हालांकि मौके पर जमीन जुतवाने वाले लोग नहीं मिले। संभवतः उक्त लोगों को पूर्व से कार्रवाई किए जाने की जानकारी लग गई थी। अगर विश्वसनीय सूत्रों की मानें तो इस मामले में वन विभाग के स्थानीय अधिकारियों की मिली भगत है।

मेरे क्षेत्र में नहीं घुसने दूंगा फरारी बदमाश

विधायक वीरेंद्र रघुवंशी का कहना है कि मेरे पास गांव के लोग आए थे। उन्होंने बताया कि कुछ बदमाश लोग बंदूक के जोर पर जंगल काट कर खेती कर रहे हैं। इस पर मैने संबंधित जिम्मेदारों से बात की है। बताया जा रहा है कि गुरुवार को वन व पुलिस की टीम मौके पर कार्रवाई करने गई है। बकौल वीरेंद्र रघुवंशी चंबल के फरार बदमाशों को उनके क्षेत्र में नहीं घुसने देंगे। अगर इसमें कोई अधिकारी-कर्मचारी शामिल होंगे तो उन पर भी कार्रवाई करवाऊंगा।

तेंदुआ थाना प्रभारी अंकित उपाध्याय ने बताया कि वह फॉरेस्ट का क्षेत्र है, गुरुवार को हम फॉरेस्ट के साथ मौके पर गए थे, परंतु वहां से वह लोग भाग गए हैं। कुछ सामान मिला है जिसे जब्त किया गया है। जमीन पर पतला चलवा दिया है, जिसे उक्त लोगों ने जोता था।

बदरवास रेंजर शैलेन्द्र सिंह ने कहा कि बसाई और सोनपुरा के गुर्जर समुदाय के दो पक्ष हैं जो पिछले कई साल से उस जमीन पर कब्जा करना चाह रहे हैं। हम लगातार उनके प्रयासों को विफल कर रहे थे। इसी क्रम में एक समुदाय के पक्ष द्वारा बाहर से बदमाशों को बुलवा कर यह जुताई की गई है। गुरुवार को हम गए तो वह लोग तो भाग गए, लेकिन उनका कुछ सामान जब्त कर लिया है।