एडवोकेट के नोटिस के बाद जागा प्रशासन, सूअर पकड़ो अभियान शुरू- Shivpuri news

शिवपुरी। शिवपुरी शहर के लिए मुसीबत बने सूअरों को हटाने का क्रम आज से फिर शुरू हो गया है। यह सब अभिभाषक संजीव बिलगैयां की उस चेतावनी का असर है, जिसमें उन्होंने नगर पालिका को 24 घंटे का अल्टीमेटम देकर कहा था कि अगर शहर से सूअर नहीं हटे तो वह कोर्ट की अवमानना के चलते याचिका दायर करेंगे। इस चेतावनी के बाद नपा प्रशासन जागा और शहर से सूअरों को हटाने की कार्रवाई शुरू की। नपा के सफाई कर्मचारी सूअरों को उठा-उठाकर ट्रकों में भरते देखे गए। शहर के अनेकों वार्डों में यह अभियान चलाया गया।

विदित हो कि शिवपुरी में सूअरों की समस्याओं को लेकर केबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया कई बार अपनी नाराजगी जाहिर कर चुकी हैं और उनके ही प्रयासों और हाईकोर्ट के निर्देश पर से पूर्व में शहर में नपा ने शूटआउट अभियान चलाया था। इसके बाद शहर में सूअरों की धमाचौकड़ी से शहरवासियों को राहत मिली थी। लेकिन कुछ समय बाद ही सूअर पालकों ने बाहर भेजे सूअरों को वापस बुला लिया। जिसका परिणाम यह हुआ कि शहर में फिर से सूअरों का आतंक बरपने लगा।

इसे लेकर एक बार फिर केबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने चिंता व्यक्त की और उन्होंने नपा को आदेशित किया कि वह शहर को सूअर विहीन करने के लिए कदम उठाएं। इसके बाद नपा ने सूअर पालकों को चेतावनी जारी कर अपनी जिम्मेदारी कर ली। लेकिन सूअरों को हटाने के लिए कोई प्रयास नहीं किए। तब अभिभाषक संजीव बिलगैंया ने केबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया के निर्देश पर नपा को नोटिस जारी किया।

लेकिन इसके बाद भी नपा की तंद्रा नहीं टूटी और जिस पर अभिभाषक ने नपा को 24 घंटे का अल्टीमेटम देकर चेतावनी जारी की। अगर इन 24 घंटों के अंदर सूअरों को नहीं हटाया गया तो वह न्यायालय की अवमानना की याचिका दायर करेंगे। इसका असर यह हुआ कि नपा को 24 घंटे के अंदर ही सूअरों को हटाने का प्लान तैयार करना पड़ा और आज सुबह से ही शहर के विभिन्न क्षेत्रों में सूअरों की धरपकड़ शुरू हुई।