ABVP का टयूशन फीस को लेकर विरोध: अभिभावको ने क​हा कि मजदूरी करत हैं 30 हजार कहा से लाए- Shivpuri News

शिवपुरी। स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार द्वारा मौखिक रूप से खुली छूट दिए जाने के बाद प्राइवेट स्कूल संचालकों ने मनमानी फीस वसूली शुरू कर दी है। आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने जिलाधीश को 7 सूत्रीय मांगों को लेकर सौंपा ज्ञापन जिसमे मुख्य मांग अशासकीय विद्यालयो द्वारा टयूशन फीस के नाम पर वसूली जा रही हैं।

जिसमे जिला संयोजक मयंक राठौर ने बताया कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद सदैव छात्र हितों में अपनी मांगों को सरकार एवं प्रशासन के समक्ष रखते आये है जिसमे आज हमने जिले में संचालित अधिकतम प्राइवेट संस्थान के विद्यालयों में अभिभावकों पर प्रेशर बनाकर ट्यूशन फीस के नाम पर अतिरिक्त शुल्क बड़ा कर लिया जा रहा हैं।

जिसमे हमने आज जिलाधीश महोदय के संज्ञान में लाने हेतु यह ज्ञापन सौंपा आगे नगर मंत्री विवेक धाकड़ का कहना है कि हमने कुछ बिंदुओं को लेकर ज्ञापन दिया जिसके मुख्य बिंदु इस प्रकार है।

जिले भर के विभिन्‍न अशासकीय विद्यालयों के द्वारा शासन के आदेशानुसार मात्र शिक्षण शुल्‍क लेने के लिर्देशों की अवहेलना कर पुरी फीस वसूली जा रही है प्रशासन द्वारा हस्‍तक्षेप कर इस लूट को त्‍तकाल रोका जावें। विद्यार्थी परिषद मांग करती है के सभी अशासकीय विद्यालयों की फीस एक समान या किसी निर्धारित शुल्‍क के अन्‍तर्गत निर्धारित किया जावें।

छात्रों को प्रदाय की जाने वाली छात्रवृत्ति की राशि लगभग 30 प्रतिशत छात्रों को हित वितरित हो सकी है शत प्रतिशत छात्रवृत्ति प्रदाय की जावें। पुरूष एवं महिला प्रसाधन बहुत कम संख्‍या में है जो है उनकी सफाई व रखरखाव नहीं है । एवं सार्वजनिक स्‍थलों पर सुचारू रूप से प्रसाधनों की साफ-सफाई एवं महिला प्रसाधनों की विशेष रूप से ध्‍यान दिया जावें।

पुस्‍तकालय व वाचनालय का संचालन सुचारू नहीं है इसे श्रीमान जी के निर्देश में संचालित किया जायें जिससे इसकी उपयोगिता छात्रों हेतु हो सके।
शहर में कई भी एक वाई फाई जोन बनाया जाये जिससें विद्यार्थी अपनी पढ़ाई उस स्‍थान पर सुचारू रूप से कर सके।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद महोदय से मांग करती है कि निम्‍नलिखित सात सूत्रीय मांगों को सात दिवस के भीतर मांगों का निराकरण किया जायें अत: विद्यार्थी परिषद उग्र आंदोलन के कलए वाध्‍य रहेगी जिसकी सम्‍पूर्ण जिम्‍मेदारी जिला प्रशासन की रहेगी।

जिसमें मुख्य रूप से जिला संयोजक मयंक राठौर,नगर मंत्री विवेक धाकड़,जिला sfd प्रमुख वेदांश सविता,प्रांत कार्यकारिणी सदस्य दीपा जाटव,आदित्य पाठक,प्रद्युम्न गोस्वामी,राहुल पड़रिया,देवेश धानुक,संदीप शर्मा,रत्नेश तिवारी,नगर विद्यालय प्रमुख प्रियांश दुबे,आरती परिहार,सीमा ओझा, छाया शर्मा,रमन राठौर, यश राठौर,इशू शर्मा,अभिषेक चौहान, कमलकिशोर धाकड, रोहित सेजवार, वीरेन्‍द्रभान धाकड, मोन्टी रजक, यश्‍वेन्‍द्र सिहं, शिवम परमार,वृन्‍दावन धाकड, निर्भय धाकड,भानु समाधिया, रिजवान खान, दिव्यांश कुशवाह, कपिल कुशवाह, हेमंत धाकड़,ध्रुवदत्त शर्मा इत्यादि दो सैकड़ा से अधिक कार्यकर्ता उपस्थित रहे।