15 हजार के लिए की थी चाय बाले जगदीश की हत्या,आरोपी भी हुआ था जख्मी,CCTV से पकड़ा

शिवपुरी। शहर के सिटी कोतवाली क्षेत्र के गर्ल्स स्कूल के पास बीते 24 अगस्त को हुई चाय बाले की हत्या के मामले का आज कोतवाली पुलिस ने खुलासा कर लिया है। इस मामले में पुलिस ने आरोपी को भी हिरासत में ले लिया है।

जानकारी के अनुसार बीते 24 अगस्त को रात्रि में चाय बाले जगदीश शर्मा की अपने किराए के घर की सीढ़ियों में रक्त रंजित लाश मिली थी।जिसपर पुलिस ने इस मामले में अज्ञात आरोपी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर बिबेचना में ले लिया था।
 
जिस पर पुलिस अधीक्षक शिवपुरी राजेश सिंह चंदेल द्वारा शहर के मध्य हुई इस हत्या को गंभीरता से लेकर तत्काल घटना स्थल पर पहुंच कर अज्ञात आरोपियों की पतारसी एवं गिरफ्तारी के निर्देश दिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शिवपुरी प्रवीण भूरिया एवं एसडीओपी शिवपुरी अजय भार्गव के मार्गदर्शन में एक पुलिस टीम का गठन किया गया।

मौके पर एफएसएल यूनिट प्रभारी डॉ. एच एस बरहादिया द्वारा घटना स्थल का निरीक्षण कर घटना स्थल पर मौजूद साक्ष्य (रक्त व चाकू) संकलित करने के निर्देश दिये गये एवं उक्त गठित पुलिस टीम द्वारा शहर के सीसीटीवी कैमरे चैक किये एवं विवेचना के दौरान मृतक के संपर्क वालों से पूछताछ की।

जिनमें से एक व्यक्ति अन्नू शर्मा निवासी जल मंदिर के पास जो मृतक का परिचित है जिसके हाथ में ताजा चोट के जख्म होने से उस पर संदेह होने पर उसे हिरासत में लेकर  (मनोवैज्ञानिक तरीके) से पूछताछ करने पर आरोपी द्वारा पैसे को लेकर मृतक की चाकू मारकर हत्या करना स्वीकार किया।

आरोपी ने पुलिस को बताया कि पूर्व में उसका आरोपी से रूपयो के लेनदेन को लेकर विवाद भी हुआ था। मृतक को आरोपी ने 15 हजार रुपये दिए थे जिसे आरोपी लगातार मांग रहा था,इसी के चलते दोनों में विवाद हो गया था। बताया गया है मृतक कुछ जादू टोना जानता था जिसके चलते आरोपी को डर था कि आरोपी उसे जादू टोने से खत्म कर देगा।

तब से आरोपी मृतक से बदला लेने की रंजिश रखे हुआ था इसी कारण आरोपी ने मृतक की निर्ममता पूर्वक हत्या कर दी। इस मामले में पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया गया एवं आरोपी से उसकी निशानदेही पर घटना दिनांक को पहने हुये कपडे रक्त रंजित बरामद किये गये तथा आरोपी को मोबाईल भी जप्त किया गया।

इस कार्यवाही में थाना प्रभारी कोतवाली निरी. बादाम सिंह यादव, एफएसएल प्रभारी एचएस बरहादिया उनि सुमित शर्मा उप(रे) बिजेन्द्र राजपूत, उनि. रामचंद्र शर्मा,सउनि. अमृतलाल, सउनि बृजेन पाठक, आदेश धाकड़, ऊदल सिंह गुर्जर, रघुवीर पाल आर नरेश यादव, भूपेन्द्र यादव, आर. टिन्कू सिंह, राम पाराशर, आर.चा. शरद यादव की सराहनीय भूमिका रही ।