टौंगरा के एक सैंकडा आदिवासियों ने कलेक्ट्रेट में किया हंगामा, सैल्समैन ने चार माह से अंगूठा तो लगवा​ लिया राशन नहीं दिया - Shivpuri News

शिवपुरी। खबर जिले के टौंगरा गांव से आ रही है। जहां आज कलेक्ट्रेट कार्यालय में आए लगभग एक सैंकडा आदिवासी महिला और पुरूषों ने जमकर हंगामा किया। उक्त आदिवासीयों का आरोप है कि उसने यहां दबंग सेल्समैन उन्हे प्रताणित कर रहा है। परंतु चार माह से उसने किसी को राशन नहीं दिया है।

कलेक्ट्रेट कार्यालय में पहुंचे आदिवासीयों ने कलेक्ट्रेट कार्यालय में जमकर कलेक्टर हाय हाय के नारे लगाते हुए कहा कि टौंगरा में शासकीय उचित मूल्य की दुकान का संचालक कप्तान रावत जो कि दबंग है। वह बीते चार माह से ग्रामीणों को राशन नही दे रहा है। हर माह वह आता है और बोलता है कि अभी राशन आया नहीं है। आप अंगूठा लगा दो जिससे जैसे ही माल आएगा वह उन्हें राशन दे देगा।

परंतु उसके बाद जब उससे राशन की मांग की तो वह गाली गलौच करते हुए उन्हें भगा दिया। आदिवासीयों का आरोप है कि अभी तक किसी माह का प्रधानमंत्री द्वारा पीएमजीकंवाय के तहत निःशुल्क वितरित किया जाने वाला खाद्यान्न सैल्समैन ने विल्कुल भी वितरित नहीं किया।

इसके साथ ही विगत तीन माह से अधिकांश उपभोक्ताओं को राशन सामग्री, खाद्यान्न वितरित नहीं किया गया है, उपभोक्ताओं से फिंगर प्रिंट ले लिये गये हैं परन्तु खाद्यान्न वितरित नहीं किया गया है। यह कि विक्रेता द्वारा विगत 02 वर्षों से किसी भी मा को शक्कर वितरित नहीं की गई है।

यदि कोई उपभोक्ता उक्त सम्बन्ध में विक्रेता से बचा करता है। तो विक्रेता गालीगलौंच कर मारपीट करने आमादा हो जाता है. जातिगत अपमान करने लगता है व कहता है कि यदि किसी में शिकायत की तो हाथ पैर तोड़ दूंगा फिर कभी दुकान पर मत आ जाना। इस मामले की पीडित सीएम हेल्पलाईन पर भी शिकायत कर चुके है।

परंतु उनकी कोई सुनवाई नहीं हुई। उसके बाद जैसे ही सैल्समेन को पता चला कि उसकी शिकायत करने आदिवासी आए है तो उसने अपना गुर्गा कलेक्ट्रेट कार्यालय भेजा और आदिवासीयों को वहलाने फुसलाने लगा। परंतु आदिवासी नहीं माने और जमकर हंगामा करते रहे।