181 को ठेंगा दिखा रहा है CMO, गलत जानकारी देकर अधिकारियों को कर रहे है गुमराह - Pohri News

पोहरी। वैसे तो जिले में सीएम हेल्पलाईन को इन दिनों खुद हेल्प की आवश्यकता है। लगातार मोनीटरिंग के आभाव में जिम्मेदार जबरन शिकायतों को फोर्स क्लोज करने गलत जानकारी भर रहे है। ऐसा ही एक मामला जिले के पोहरी नगर पंचायत से आया है। जहां एक अधिकारी को महज भेंट पूजा नहीं देने के चलते एक युवक अपना नल का कलेक्शन नहीं करा पा रहा है। इस मामले की शिकायत कई कार उपभोक्ता कर चुका है। परंतु हर जगह उसे एक नया फोमूला पकडाया जा रहा है।

जानकारी के अनुसार शिखर चंद्र सिंघल ने 8 मई एवं 13 मई 2021 को दो बार आवेदन नगर परिषद को लिखित में आवेदन देते हुए शिकायत दर्ज कराई कि नगर परिषद में पदस्थ कर्मचारी को भेंट नहीं देने के चलते उनका नल कलेक्शन नहीं किया जा रहा। शिखरचंद का आरोप है कि वह लगातार इस मामले की शिकायत अधिकारीयों सहित सीएम हेल्पलाईन में कर चुके है। परंतु अब अधिकारी पीडित पर जबरन शिकायत बंद कराने का दबाव बना रहे है।

परंतु उसके बाद भी फरियादी ने अपना आवेदन बापिस लेने से इंकार किया तो सीएम हेल्पलाईन में अधिकारीयों ने लगत फीडिंग देते हुए पीडब्लयूडी की रोड होने के चलते परमीशन की बात कहकर इस शिकायत को जबरन बंद करा दिया। परंतु हकीकत में यह कनेक्शन रोड से लगभग 15 फिट दूर है।

शिखरचंद का आरोप है कि उसके घर मे 10 सदस्यो का परिवार हैं लगभग 1 माह में 4 टेंकर पानी डलवाकर अपना एवं अपने परिवार के लिए पानी की व्यवस्था कर रहे है। आज की तारीख में पानी का टेंकर 450-500 रुपए की कीमत से आ रहा हैं। 2 माह से ज्यादा समय से शिखर चंद्र सिंघल का परिबार पानी की समस्या से जोझ रहा हैं बही जिम्मेदार अधिकारी अपनी मनमानी पर उतारू है।